डॉ. रेड्डीज स्पूतनिक वी टीके को 2-8 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान में रखने के असर का कर रही हैः अध्ययन

स्पूतनिक वी का नाम रूस के बनाए दुनिया के पहले सैटेलाइट पर दिया गया है (Photo- twitter)

स्पूतनिक वी का नाम रूस के बनाए दुनिया के पहले सैटेलाइट पर दिया गया है (Photo- twitter)

Corona vaccine updates: डॉ. रेड्डीज के मुख्य कार्यपालक अधिकारी दीपक सापरा (एपीआई और सर्विसेज) ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि टीके का आयात जमी हुई स्थिति (फ्रोजेन) में रसियन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) से किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 4:00 AM IST
  • Share this:
हैदराबाद. डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज (Dr. Reddy's Laboratories) ने बुधवार को कहा कि वह रूस की कोविड-19 रोधी टीके स्पूतनिक वी (Sputnik V Vaccine) को 2 से 8 डिग्री सेंटीग्रेड की स्थिति में रखने पर उसकी स्थिरता से जुड़े और आंकड़े जुटा रही है. इस टीके का भंडारण शून्य से नीचे 18 डिग्री सेंटीग्रेड के तापमान पर किया जाता है.

डॉ. रेड्डीज के मुख्य कार्यपालक अधिकारी दीपक सापरा (एपीआई और सर्विसेज) ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि टीके का आयात जमी हुई स्थिति (फ्रोजेन) में रसियन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) से किया जाएगा. आरडीआईएफ के साथ कंपनी का 12.5 करोड़ खुराक (25 करोड़ शीशी) के भारत में वितरण को लेकर समझौता है. इसे शून्य से नीचे 18 से 22 डिग्री सेंटीग्रेड में रखने की आवश्यकता होगी.

टीका देने से 20 मिनट पहले रखा जाएगा बाहर

टीके को देने से पहले उसे 15 से 20 मिनट बाहर रखा जाएगा. सापरा ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘उत्पादन को शून्य से नीचे 18 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान पर रखने के अलावा हम 2 से 8 डिग्री सेंटीग्रेड पर स्थिरता के अतिरिक्त आंकड़े सृजित करने की प्रक्रिया में हैं.’’
उन्होंने कहा कि यह आंकड़ा अगले कुछ महीनों में उपलब्ध होगा. उसके बाद हम जरूरी संशोधन के लिये नियामक से आग्रह करेंगे. और भंडारण स्थिति संशोधित कर 2 से 8 डिग्री सेंटीग्रेड करने का आग्रह करेंगे.



ये भी पढ़ें: आज अंबेडकर जयंती है और एक TMC नेता ने दलितों के लिए अपमानजनक बातें कहीं: नड्डा



सापरा ने कहा कि स्पूतनिक वी टीके की आपूर्ति को लेकर भारत जरूरी शीत भंडारण ढांचागत सुविधा है. यह टीका चालू तिमाही में उपलब्ध होगा. कंपनी ने मंगलवार को कहा था कि उसे भारतीय औषधि नियामक से देश में कोविड-19 रोधी टीके के सीमित आपात उपयोग की मंजूरी मिल गयी है.

स्पूतनिक वी की क्या कीमत हो सकती है?

फिलहाल सरकारी अस्पतालों में कोवैक्सिन और कोविशील्ड, दोनों ही वैक्सीन्स मुफ्त लग रही हैं, जबकि निजी अस्पतालों में इसका शुल्क है. फिलहाल स्पूतनिक वी आएगा, तो उसकी कीमत क्या होगी, इस बारे में कोई स्पष्टता नहीं. जिन देशों ने स्पूतनिक के इस्तेमाल को मंजूरी दी है, वहां इसके टीके की कीमत लगभग 700 रुपए है. तो अगर इसे रूस से आयात करें तो टीके की कीमत ज्यादा हो सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज