• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • DR VK PAUL NITI AAYOG BHARAT BIOTECH COVAXIN FOR KIDS ICMR HEALTH MINISTRY

कोरोनाः अगले 10 से 12 दिन में 2 से 18 वर्ष के बच्चों पर शुरू होगा कोवैक्सीन का ट्रायल

स्वास्थ्य मामलों पर नीति आयोग के सदस्य डॉक्टर वीके पॉल ने कहा कि अगले 10 से 12 दिनों में कोवैक्सीन का ट्रायल शुरू हो जाएगा. (सांकेतिक तस्वीर)

Covaxin for kids: डॉ. पॉल ने कहा कि ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने 2 से 18 वर्ष के बच्चों पर कोवैक्सीन के क्लिनिकल ट्रायल की मंजूरी दे दी है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना वायरस की तीसरी लहर से व्याप्त खतरों की आशंका के बीच भारत बायोटेक और आईसीएमआर की बनाई कोविड वैक्सीन कोवैक्सीन का ट्रायल 10 से 12 दिनों के भीतर 2 से 18 वर्ष वाले आयु वर्ग के बच्चों पर शुरू किया जाएगा. स्वास्थ्य मामलों पर नीति आयोग के सदस्य डॉक्टर वीके पॉल ने मंगलवार को इस बारे में जानकारी दी. पॉल ने कहा कि ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने 2 से 18 वर्ष के बच्चों पर कोवैक्सीन के क्लिनिकल ट्रायल की मंजूरी दे दी है. जहां तक मुझे जानकारी है, अगले 10 से 12 दिनों में कोवैक्सीन का ट्रायल शुरू हो जाएगा.

    दूसरी ओर देश में कोरोना संक्रमण की स्थिति पर केंद्र सरकार ने कहा कि तमिलनाडु, त्रिपुरा, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मिजोरम में कोविड-19 के मामलों और संक्रमण दर में वृद्धि दर्ज की जा रही है, जबकि महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, बिहार, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कोविड-19 मामलों और संक्रमण दर में गिरावट नजर आ रही है. आंकड़ों के मुताबिक भारत की कुल आबादी का करीब 1.8 प्रतिशत अब तक कोविड-19 से प्रभावित हुआ है, 98 प्रतिशत आबादी अब भी संक्रमण के लिहाज से संवेदनशील स्थिति में है.

    लगातार घट रहे कोविड के मामले
    स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि आठ राज्यों में कोविड-19 के उपचाराधीन रोगियों की संख्या एक लाख से ज्यादा है, 22 राज्यों में संक्रमण दर 15 प्रतिशत से ज्यादा है. बीते 15 दिनों के दौरान कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या में लगातार कमी दर्ज की गई, तीन मई को यह जहां संक्रमण के कुल मामलों का 17.13 प्रतिशत थी, वहीं अब घटकर 13.3 प्रतिशत रह गई है.

    मंत्रालय ने कहा कि कई राज्यों में कोविड-19 महामारी का वक्र स्थिर है, समग्र प्रयासों और जांच बढ़ाने के फलस्वरूप यह स्थिर हुआ है. वैज्ञानिक विश्लेषण के मुताबिक पुनरुत्पादन संख्या कुल मिलाकर अब 1 से नीचे है, जिसका मतलब है कि कोविड-19 महामारी का दायरा कम हो रहा है. ऐसे 199 जिले हैं, जहां पिछले दो सप्ताह से कोविड-19 के नए मामलों और नमूनों के संक्रमित आने की दर में लगातार गिरावट आ रही है.