DRDO की तकनीक 30 सेकेंड में यात्री बसों में आग का पता लगाएगी, 60 सेकेंड में बुझाएगी

फाइल फोटोः DRDO की इस तकनीक का रक्षामंत्री के सामने प्रदर्शन किया गया
फाइल फोटोः DRDO की इस तकनीक का रक्षामंत्री के सामने प्रदर्शन किया गया

DRDO ने 30 सेकेंड में यात्री बसों में आग का पता लगाने और 60 सेकेंड में बुझाने वाली तकनीक विकसित की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 9, 2020, 9:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने यात्री बसों के लिए आग का पता लगाने वाली और आग बुझाने वाली प्रणाली (FDSS) विकसित की है. यह जानकारी एक बयान में दी गई.

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने कहा कि केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) और रक्षा मंत्री Rajnath Singh ने सोमवार को डीआरडीओ भवन में एफडीएसएस का प्रदर्शन देखा. यह एक ऐसी तकनीक है जो बसों में आग लगने का 30 सेकंड से कम समय में पता लगा सकती है और इसे 60 सेकंड में बुझा सकती है.

बयान के मुताबिक मंत्रियों को अन्य कई कार्यक्रमों और प्रणालियों के बारे में भी जानकारी दी गई.



बयान में कहा गया कि, "डीआरडीओ के अग्नि, विस्फोटक और पर्यावरण सुरक्षा केंद्र (CFEES), दिल्ली ने प्रौद्योगिकी विकसित की है, जो यात्री डिब्बों में आग का 30 सेकंड से कम समय में पता लगा सकती है और इसे 60 सेकेंड में बुझा सकती है. इस तरह जानमाल के नुकसान के जोखिम को काफी हद तक कम किया जा सकता है."
गडकरी ने एफडीएसएस के विकास को बस यात्रियों की सुरक्षा की दिशा में अत्यंत महत्वपूर्ण कदम करार दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज