लाइव टीवी
Elec-widget

गोवा में नहीं मिलेगा बीच पर शराब पीने का आनन्द, सरकार लेकर आई ये विधेयक

भाषा
Updated: January 30, 2019, 9:30 PM IST
गोवा में नहीं मिलेगा बीच पर शराब पीने का आनन्द, सरकार लेकर आई ये विधेयक
सांकेतिक तस्वीर

विधेयक में कहा गया है कि इसका उद्देश्य गोवा में पर्यटक स्थलों पर पर्यटन की संभावना बचाए रखना और स्वच्छता बरकरार रखना और वहां शोर-शराबा रोकना है.

  • Share this:
गोवा में पर्यटक स्थलों को शोर-शराबा मुक्त करने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने बुधवार को एक विधेयक पेश किया जिसके तहत समुद्री तटों सहित खुले स्थानों पर शराब पीना और खाना बनाना प्रतिबंधित होगा. पर्यटन मंत्री मनोहर अजगांवकर ने विधानसभा में बुधवार को विधेयक पेश किया. विधेयक में प्रावधान है कि कानून का उल्लंघन करने वाले किसी भी व्यक्ति को दो हजार रुपये और लोगों के समूह को दस हजार रुपये का जुर्माना किया जाएगा.

गौरतलब है कि विधेयक में गोवा पर्यटक स्थल (संरक्षण एवं देखभाल) कानून, 2001 को संशोधित किया गया है, जिसमें नये नियम का पालन सुनिश्चित किये जाने की जिम्मेदारी शराब दुकानों की होगी. विधेयक में कहा गया है कि शराब बिक्री के व्यवसाय में शामिल कोई भी व्यक्ति ‘‘अपने ग्राहकों को पर्यटक स्थलों पर शराब की बोतल ले जाने की अनुमति नहीं देगा.’’

विधेयक में कहा गया है कि इसका उद्देश्य गोवा में पर्यटक स्थलों पर पर्यटन की संभावना बचाए रखना और स्वच्छता बरकरार रखना और वहां शोर-शराबा रोकना है. अजगांवकर ने गोवा पर्यटन व्यवसाय पंजीकरण कानून, 2019 भी पेश किया जिसके तहत ऑनलाइन सेवा मुहैया कराने के इच्छुक होटलों और अन्य पर्यटन संस्थानों का विभाग में पंजीकरण कराना आवश्यक है.

तीन दिवसीय विधानसभा सत्र का समापन गुरुवार को होगा. इससे पहले मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने विधानसभा में बजट पेश किया.

ये भी पढ़ें: शराबियों के कारण यहां तीन सालों से खेती नहीं कर रहे किसान!

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2019, 9:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...