होम /न्यूज /राष्ट्र /पायलट प्रोजेक्ट: डाक विभाग ने पहली बार गुजरात में ड्रोन से पहुंचाई डाक, 25 मिनट में तय की 46 किमी की दूरी

पायलट प्रोजेक्ट: डाक विभाग ने पहली बार गुजरात में ड्रोन से पहुंचाई डाक, 25 मिनट में तय की 46 किमी की दूरी

भारतीय डाक विभाग ने ड्रोन से पहुंचाई डाक (सांकेतिक तस्वीर)

भारतीय डाक विभाग ने ड्रोन से पहुंचाई डाक (सांकेतिक तस्वीर)

Drone Technology: डाक विभाग ने गुजरात के कच्छ में ड्रोन के जरिये डाक पहुंचाने का सफल पायलट परीक्षण किया है. ड्रोन ने सफ ...अधिक पढ़ें

अहमदाबाद: भारतीय डाक विभाग (Indian Postal Department) ने पहली बार पायलट परियोजना के तहत गुजरात के कच्छ जिले में ड्रोन की मदद से डाक पहुंचाई. इस ड्रोन ने 25 मिनट में 46 किलोमीटर की दूरी तय की. अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी.

पत्र सूचना कार्यालय अहमदाबाद द्वारा जारी विज्ञप्ति के मुताबिक, केंद्रीय संचार मंत्रालय के मार्गदर्शन में डाक को कच्छ जिले के भुज तालुका के हबे गांव से भचाउ तालुका के नेर गांव पहुंचाया गया. विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘‘इस पायलट परियोजना के सफल होने से भविष्य में ड्रोन के जरिये डाक पहुंचाना संभव होगा.’’

पीआईबी ने कहा, ‘‘आधुनिक प्रौद्योगिकी के साथ कदमताल करते हुए भारतीय डाक विभाग ने पहली बार देश में ड्रोन की मदद से गुजरात के कच्छ में डाक पहुंचाने का सफल पायलट परीक्षण किया है.’’ विज्ञप्ति के अनुसार, शुरुआती स्थान से 46 किलोमीटर दूर स्थित गंतव्य स्थान तक पार्सल पहुंचाने में ड्रोन ने 25 मिनट का समय लिया.

ड्रोन ने 46 किमी. की दूरी 30 मिनट में तय की

केंद्रीय संचार राज्यमंत्री देवुसिंह चौहान द्वारा ट्विटर पर साझा की गई सूचना के मुताबिक, पार्सल में चिकित्सा संबंध सामग्री थी. विज्ञप्ति में कहा गया है कि पायलट परियोजना के तहत विशेषतौर पर ड्रोन से एक स्थान से दूसरे स्थान पर डाक पहुंचाने में आने वाली लागत का अध्ययन किया गया. साथ ही इस दौरान डाक पहुंचाने के कार्य में संलग्न कर्मचारियों के बीच समन्वय को भी परखा गया.

यह भी पढ़ें: ड्रोन महोत्‍सव में पहली बार दिखेगी ड्रोन टैक्‍सी, आम जनता भी उड़ा सकेगी ड्रोन

बयान के मुताबिक, अगर वाणिज्यिक रूप से प्रयोग सफल रहा तो डाक पार्सल सेवा और तेज गति से कार्य करेगी.

चौहान ने शनिवार को ट्वीट किया, ‘‘देश जहां ड्रोन महोत्सव 2022 मना रहा है, वहीं डाक विभाग ने गुजरात के कच्छ में ड्रोन के जरिये डाक पहुंचाने का सफल पायलट परीक्षण किया है. ड्रोन ने सफलतापूर्वक 30 मिनट में 46 किलोमीटर की हवाई दूरी तय कर दवा का पार्सल पहुंचाया.

" isDesktop="true" id="4286357" >

बता दें कि नई दिल्ली में ड्रोन महोत्सव 2022 का उद्घाटन करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने इस तकनीक की जरूरत पर जोर दिया और कहा कि 2030 तक भारत ड्रोन हब बन जाएगा.

Tags: Drone, Postal department

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें