जायडस कैडिला की 'विराफिन' दवा को कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए मिली DCGI की आपात मंजूरी

जायडस कैडिला की 'विराफिन' दवा को कोविड-19 के इलाज के लिए आपात इजाजत दे दी गई है. फाइल फोटो

जायडस कैडिला की 'विराफिन' दवा को कोविड-19 के इलाज के लिए आपात इजाजत दे दी गई है. फाइल फोटो

DGCI Approves emergency use for Zydus Cadila Vaccine: जायडस कैडिला की दवा विराफिन (Virafin) कोरोना के सामान्य लक्षण वाले व्यस्क मरीजों के इलाज में काम आती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 23, 2021, 11:47 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना महामारी ने कोहराम मचा रखा है. देश में दवा से लेकर ऑक्सीजन तक की किल्लत हो रही है. इस बीच ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) ने कोरोना के इलाज के लिए एक और दवाई के आपात इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है. जायडस कैडिला की 'विराफिन' दवा को कोविड-19 के इलाज के लिए आपात इजाजत दे दी गई है. रिपोर्ट्स के मुताबिक दवा कंपनी जायडस का दावा है कि विराफिन के इस्तेमाल के बाद सात दिन में 91.15 फीसदी कोरोना संक्रमितों का आरटी-पीसीआर टेस्ट निगेटिव आया है. इस एंटी वायरस दवा के इस्तेमाल से कोरोना मरीजों को राहत मिलती है और लड़ने की ताकत भी आती है.

कंपनी के मुताबिक अगर कोरोना वायरस संक्रमित होने की शुरुआत में ही विराफिन दवा दी जाती है तो मरीजों को बीमारी से उबरने में काफी मदद मिलेगी और तकलीफ भी कम होगी. हालांकि इस दवा को अभी डॉक्टर की सलाह के बाद ही दिया जाएगा और दवा अस्पतालों में ही मिलेगी. कंपनी ने इस दवा का ट्रायल 25 केंद्रों पर किया था, जिसके नतीजे अच्छे रहे हैं.

Youtube Video


तीन वैक्सीन को आपात मंजूरी
बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ देश में टीकाकरण अभियान चल रहा है. इस अभियान में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की बनाई कोविशील्ड, भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवॉक्सिन का सक्रिय इस्तेमाल हो रहा है. हालांकि भारत सरकार ने रूस की वैक्सीन स्पुतनिक-वी को भी आपात इस्तेमाल की मंजूरी दी है और माना जा रहा है कि जल्द ही रूसी वैक्सीन से भी टीकाकरण शुरू हो जाएगा. देश में 16 जनवरी 2021 से टीकाकरण कार्यक्रम शुरू हुआ था. 1 मई से 18 साल से ऊपर के लोगों के लिए भी टीकाकरण कार्यक्रम को खोल दिया जाएगा.

देश में रिकॉर्ड 3,32,730 नये मामले

देश में शुक्रवार को एक दिन में रिकॉर्ड 3,32,730 नये मामले सामने आए. इसके साथ ही देश में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,62,63,695 हो गए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शुक्रवार तक के आंकड़ों के मुताबिक 24 लाख से अधिक लोग अब भी संक्रमण की चपेट में हैं जबकि 2,263 और लोगों की मौत होने के बाद मृतक संख्या 1,86,920 पर पहुंच गई है. पिछले 24 घंटे में देश में दर्ज कोविड-19 के मामलों में 75.01 प्रतिशत मामले महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात और राजस्थान से हैं.





महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा

महाराष्ट्र में संक्रमण के सबसे अधिक रोजाना के मामले 67,013 दर्ज किये गये. इसके बाद उत्तर प्रदेश में 34,254 मामले जबकि केरल में संक्रमण के 26,995 नए मामले दर्ज किये गये.

नेटवर्क 18 यह सुनिश्चित करना चाहता है कि हर भारतीय को कोविड-19 का टीका मिले. टीकाकरण जागरूकता बढ़ाने के लिए नेटवर्क 18 और फेडरल बैंक की पहल 'संजीवनी - ए शॉट ऑफ लाइफ' को सपोर्ट करें.

दिल्ली और 11 राज्य - महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, केरल, गुजरात, तमिलनाडु, राजस्थान, बिहार और पश्चिम बंगाल में संक्रमण के रोजाना के मामलों में इजाफा देखा जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज