DU Final Year Exam: इस तारीख से होंगे डीयू में ऑफलाइन एग्जाम, हाईकोर्ट ने दिया निर्देश

DU Final Year Exam: इस तारीख से होंगे डीयू में ऑफलाइन एग्जाम, हाईकोर्ट ने दिया निर्देश
दिल्ली यूनिवर्सिटी जल्द को ऑफलाइन एग्जाम करवाने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट ने निर्देश दिया है.

दिल्ली यूनिवर्सिटी का ओपन बुक एग्जाम 31 अगस्त तक चलेगा. दिल्ली हाईकोर्ट ने ऑफलाइन परीक्षा को लेकर निर्देश दिया है. हालांकि, डूटा ने का कहना है कि इससे छात्रों को दिक्कत होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 18, 2020, 11:34 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने सोमवार को दिल्ली यूनिवर्सिटी को फाईनल ईयर (Delhi University Final Year Exam) के लिए पेन और पेपर मोड में 14 सितंबर से परीक्षा करवाने को कहा है. हालांकि, यूनिवर्सिटी ने कहा है कि परीक्षा करवाने के लिए यह काफी कम समय है और अभी चल रहे ऑनलाइन ओपन बुक एग्जाम की वजह से पहले से मौजूद स्टाफ पर काफी प्रेशर है. यह कदम तब उठाया गया है जब कुछ दिन पहले ही केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा एक एफिडेविट द्वारा सुप्रीम कोर्ट में कहा गया था कि कॉलेज फाइनल ईयर के एग्जाम के लिए फिर से खोले जा सकते हैं.

20 सितंबर से थी यूनिवर्सिटी की तैयारी
हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक यूनिवर्सिटी ने ऑनलाइन परीक्षा ने देने वाले स्टूडेंट्स के लिए 20 सितंबर से एग्जाम करवाने की बात कही थी लेकिन जस्टिस हिमा कोहली और जस्टिस सुब्रमण्यम प्रसाद की बेंच ने कहा कि यह अतार्किक है और यूनिवर्सिटी को इसे थोड़ा पहले करने को कहा. कोर्ट ने कहा कि इससे पहले यूनिवर्सिटी ने कहा था ऑनलाइन एग्जाम देने वाले स्टूडेंट्स के आधार पर पता लगेगा कि कितने स्टूडेंड ऑफलाइन एग्जाम देने वाले हैं. अब ऑनलाइन परीक्षा होते हुए एक हफ्ते हो गए हैं. इतने समय में ऑफलाइन परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स का डेटा एनालाइज़ करने के लिए काफी डेटा इकट्ठा हो चुका होगा.

कोर्ट ने दिया 14 सितंबर से परीक्षा करवाने का निर्देश
कोर्ट ने कहा कि यूनिवर्सिटी को जल्द से जल्द पूरी प्रक्रिया को कंप्लीट करना होगा. ऑनलाइन परीक्षा 31 अगस्त को खत्म हो रही है. फिर भी तेजी से प्रोसेस को कंप्लीट करने के लिए ऑफलाइन परीक्षा 8 सितंबर से शुरू करनी चाहिए. लेकिन दिल्ली यूनिवर्सिटी की तरफ से शामिल हो रहे वकील सचिन दत्ता ने कहा कि सारी तैयारियां करने के लिए ये काफी कम समय है तो बेंच इस तारीख को बदलकर 14 सितंबर कर दिया. इसके बाद कोर्ट ने कहा डीयू के वकील से कहा कि परीक्षा की अंतिम तिथि के बारे में वे एफिडेविट फाइल करके बताएं.



डूटा ने बताई परेशानी
हालांकि, दिल्ली यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन इससे खुश नहीं है. मिरांडा हाउस की असिस्टेंट प्रोफेसर आभा देव हबीब का कहना है कि इसका अर्थ है कि जो छात्र विपरीत परिस्थितियों के कारण ओपन बुक एग्जाम में शामिल नहीं हो पाए उन्हें अब अपने स्वास्थ्य को खतरे में डालकर परीक्षा देनी होगी. देश के अलग अलग भागों में रह रहे ब्लाइंड स्टूडेंट जो कनेक्टिविटी की समस्या की वजह से ऑनलाइन परीक्षा नहीं दे पाए उन्हें अब दिल्ली आकर परीक्षा देनी होगी.

हालांकि, अगर ये माना जाए कि 20 सितंबर से यूनिवर्सिटी की खुद की परीक्षा करवाने की तैयारी थी तो सिर्फ 6 दिन पहले परीक्षा करवाने से ये समस्याएं कैसे खत्म हो जाएंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज