डुब्बक उप-चुनाव: सभी दल तैयार; TRS को एक लाख के अंतर से चुनाव जीतने की उम्मीद

चुनाव कार्यक्रमों के अनुसार, इस विधानसभा क्षेत्र में चुनाव 3 नवंबर को होगा और मतों की गणना 10 नवंबर को होगी. (File)
चुनाव कार्यक्रमों के अनुसार, इस विधानसभा क्षेत्र में चुनाव 3 नवंबर को होगा और मतों की गणना 10 नवंबर को होगी. (File)

Dubbak Bypolls: ऐसी उम्मीद है कि टीआरएस इस उप-चुनाव में रामा लिंगा रेड्डी की पत्नी सुजाता को टिकट देगी. हालांकि, चेरुकु श्रीनिवास रेड्डी जो कि पूर्व मंत्री मुत्यम रेड्डी के बेटे हैं, उनको भी टीआरएस से टिकट मिलने की उम्मीद है. रिपोर्ट है कि अगर सत्ताधारी पार्टी उनको चुनाव लड़ने का मौक़ा नहीं देती है तो हो सकता है कि वह विपक्षी कांग्रेस पार्टी में शामिल हो जाएं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2020, 10:37 PM IST
  • Share this:
(पीवी रमना कुमार)

हैदराबाद. चुनाव आयोग (Election Commision of India) के उप-चुनावों (Bypolls Date) के कार्यक्रमों की घोषणा के बाद तेलंगाना (Telangana) में सभी पार्टियां डुब्बक विधानसभा उप-चुनाव (Dubbak Assembly Bypolls) की तैयारियों में लग गयी हैं. चुनाव कार्यक्रमों के अनुसार, इस विधानसभा क्षेत्र में चुनाव 3 नवंबर को होगा और मतों की गणना 10 नवंबर को होगी. यह उप-चुनाव इस क्षेत्र के विधायक सत्ताधारी तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के सोईलीपेटा रामा लिंगा रेड्डी की मौत के कारण हो रहा है.

ऐसी उम्मीद है कि टीआरएस इस उप-चुनाव में रामा लिंगा रेड्डी की पत्नी सुजाता को टिकट देगी. हालांकि, चेरुकु श्रीनिवास रेड्डी जो कि पूर्व मंत्री मुत्यम रेड्डी के बेटे हैं, उनको भी टीआरएस से टिकट मिलने की उम्मीद है.  रिपोर्ट है कि अगर सत्ताधारी पार्टी उनको चुनाव लड़ने का मौक़ा नहीं देती है तो हो सकता है कि वह विपक्षी कांग्रेस पार्टी में शामिल हो जाएं.



कांग्रेस ने नहीं की है उम्मीदवार की घोषणा
कांग्रेस पार्टी ने भी अभी इस क्षेत्र से अपने उम्मीदवार की घोषणा नहीं कि है और वह टीआरएस में क्या हो रहा है इस पर नज़र रखी हुई है.  टीपीसीसी के प्रमुख उत्तम कुमार रेड्डी ने घोषणा की कि वे इस उप-चुनाव को बहुत ही गंभीरता से ले रहे हैं और इस क्षेत्र से उचित उम्मीदवार को टिकट देंगे. उम्मीद की जा रही है कि बीजेपी इस क्षेत्र से एम रघुनंदन राव को टिकट देगी जो 2018 में चुनाव हार गए थे.

ये भी पढ़ें-बाबरी विध्वंस मामले में आडवाणी-जोशी सहित सभी बरी, BJP ऐसे उठाएगी फैसले का फायदा

इसकी ज़िम्मेदारी पहले ही पार्टी नेताओं को मंडलवार दे दी गई है और उनके साथ वे बैठक भी कर चुके हैं. इस क्षेत्र के ग्रामीण इलाक़ों में चुनाव अभियान ज़ोरों से और गंभीरता से चल रहा है और जनसंपर्क का यह अभियान विधायक के मौत के बाद से ही शुरू हो गया था.

वोटरों से भारी मात्रा में वोट देने की अपील
सत्ताधारी पार्टी की ओर से मंत्री हरीश राव ने पार्टी को जीत दिलाने का ज़िम्मा संभाला है और उन्होंने वोटरों से अपील की है कि वे उन्हें काफ़ी ज़्यादा संख्या में वोट दें और उनके उम्मीदवार को एक लाख से ज़्यादा मतों से जीत दिलाएं.  पार्टी के विधायकों, सांसदों और वरिष्ठ नेताओं को मंडल और गाँवों में तैनात कर दिया गया है.

2018 में हुए चुनावों में सोलीपेटा रामा लिंगा रेड्डी ने कांग्रेस के उम्मीदवार मुद्दूला नागेश्वर रेड्डी को 62500 वोटों से हराया था. 89299 वोटों के साथ टीआरएस को 54.36 प्रतिशत वोट मिले थे. कांग्रेस को इस चुनाव में 26799 और बीजेपी के उम्मीदवार रघुनंदन राव को 22595 वोट मिले थे. लेकिन, 2019 में हुए संसदीय चुनावों में टीआरएस संसदीय चुनावों में डुब्बक विधानसभा क्षेत्र में 82024 मत प्राप्त कर पहले स्थान पर था जबकि बीजेपी 29546 मतों के साथ दूसरे स्थान पर रहा जबकि कांग्रेस को 20091 मतों के साथ तीसरे स्थान से संतोष करना पड़ा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज