कोरोना के चलते तमिलनाडु सरकार ने स्कूल खोलने का अपना फैसला लिया वापस

भारत के कई राज्यों में कोरोना के केस एक बार फिर बढ़ने लगे हैं.
भारत के कई राज्यों में कोरोना के केस एक बार फिर बढ़ने लगे हैं.

राज्य में 16 नवंबर से कॉलेज भी खुलने वाले थे, लेकिन सरकार ने कहा कि कॉलेज और विश्वविद्यालय केवल शोधकर्ताओं, विज्ञान और प्रौद्योगिकी पाठ्यक्रम के अंतिम वर्ष के स्नातकोत्तर छात्रों के लिए दो दिसंबर से खुलेंगे.

  • Share this:
चेन्नई. तमिलनाडु सरकार ने अभिभावकों के साथ राय-मशवरा करने के कुछ दिन बाद ही गुरुवार को राज्य में नौंवी से 12वीं कक्षा तक के लिए नवंबर में स्कूल खोलने के अपने फैसले को वापस लेते हुए कहा कि स्कूल अभी बंद ही रहेंगे. राज्य में 16 नवंबर से कॉलेज भी खुलने वाले थे, लेकिन सरकार ने कहा कि कॉलेज और विश्वविद्यालय केवल शोधकर्ताओं, विज्ञान और प्रौद्योगिकी पाठ्यक्रम के अंतिम वर्ष के स्नातकोत्तर छात्रों के लिए दो दिसंबर से खुलेंगे.

सरकार ने कहा, अन्य पाठ्यक्रमों के लिए कॉलेज खोलने की घोषणा बाद में की जाएगी. सरकार की ओर से बताया गया है कि छात्रावास केवल उन छात्रों के लिए खोले जाएंगे, जो अगले महीने से पढ़ाई फिर से शुरू करेंगे. साथ ही सरकार ने कहा, नौंवी से 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए 16 नवंबर से स्कूल खोलने का फैसला रद्द किया जाता है. स्थिति का आकलन करते हुए, स्कूलों को दोबारा खोलने के संबंध में घोषणा की जाएगी.

गौरतलब है कि भारत में एक दिन में कोविड-19 के 47,905 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 86,83,916 हो गए. वहीं देश में अभी तक 80,66,501 लोग संक्रमण मुक्त भी हो चुके हैं. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार 550 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,28,121 हो गई है.
इसे भी पढ़ें :- कोर्ट ने ​दिल्ली सरकार से पूछा, हर 4 में से एक शख्स कोरोना से संक्रमित, फिर भी ​ढील क्यों?



देश में लगातार दूसरे दिन उपचाराधीन लोगों की संख्या पांच लाख से कम है. आंकड़ों के अनुसार देश में अभी 4,89,294 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 5.63 प्रतिशत है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज