होम /न्यूज /राष्ट्र /कोरोना वायरस: भारत में फंसे NRI को राहत, नहीं भरना होगा इनकम टैक्स रिटर्न

कोरोना वायरस: भारत में फंसे NRI को राहत, नहीं भरना होगा इनकम टैक्स रिटर्न

NRI को टैक्स में छूट

NRI को टैक्स में छूट

सरकार ने ऐसे NRI को छूट देने का फैसला किया है जो 22 मार्च से पहले भारत आए थे और 31 मार्च 2020 तक नहीं लौट सके.

    नई दिल्ली.  कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते भारत सहित दुनिया के कई देशों में इंटरनैशनल फ्लाइट नहीं चल रही है. ऐसे में विदेश मे रहने वाले हजारों प्रवासी भारतीय (NRI) भारत आकर फंस गए हैं. ऐसे में इन्हें इस बात का डर सता रहा है कि यहां ज्यादा दिन रहने से उन्हें इनकम टैक्स रिटर्न (Income Tax Return) भरना पड़ेगा. लेकिन केंद्र सरकार ने ऐसे लोगों को अब राहत देने का फैसला किया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि ऐसे लोगों को फिलहाल इनकम टैक्स रिटर्न भरने की जरूरत नहीं है.

    NRI की मांग
    अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक वित्त मंत्रालंय के अधिकारियों ने कहा कि वित्त मंत्री के पास कई NRI ने अपनी बात रखी थी. इन सबका कहना था कि इंटरनैशनल फ्लाइट रद्द होने के चलते ये फंस गए हैं और फिलहाल वो जिस देश में रहते हैं वहां नहीं लौट सकते हैं. ऐसे में उन्हें इस बात का डर लग रहा था कि उनका  NRI स्टेटस कहीं खत्म न हो जाए और उन्हें टैक्स रिटर्न भरना न पड़ जाए. लेकिन वित्त मंत्री ने इन सबको अब राहत दे दी है.

    NRI के लिए टैक्स का ये है नियम
    बता दें कि विदेश में रहने वाले भारत के नागरिकों को यहां टैक्स नहीं देना पड़ता है. शर्त ये है कि वो भारत में 120 दिन से कम रहे. लेकिन लॉकडाउन के चलते फ्लाइट रद्द होने से कई NRI इस लिमिट को पार कर चुके हैं. कई लोग यहां लंबे समय से फंसे हैं. ऐसे में इन्हें डर सता रहा था कि इन्हें टैक्स भरना पड़ सकता है. लेकिन अब सरकार ने इन्हें राहत दे दी है.

    ये हैं छूट की शर्तें
    सरकार ने ऐसे NRI को छूट देने का फैसला किया है जो 22 मार्च से पहले भारत आए थे और 31 मार्च 2020 तक नहीं लौट सके. साथ ही ऐसे NRI को भी छूट दी जाएगी जो 1 मार्च के बाद कोरोना वायरस के चलते भारत में क्वारंटीन हैं.

    ये भी पढ़ें:

    तमिलनाडु में बंद होंगी शराब की दुकानें, हाईकोर्ट ने दी ऑनलाइन बिक्री को मंजूरी

    CM उद्धव ने मुंबई में सेना की तैनाती को बताया अफवाह, कहा- जनता न करे यकीन

    Tags: Coronavirus in India, Lockdown, NRI

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें