अपना शहर चुनें

States

हलवा सेरेमनी पर अफवाहों का वित्त मंत्रालय ने किया खंडन, कहा- 10 दिन पहले होगा आयोजन

बजट इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब कापियों की छपाई नहीं होगी.
बजट इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब कापियों की छपाई नहीं होगी.

बजट (Budget 2021) की टाइपिंग होगी और इसे ऑनलाइन और सभी के लिए सॉफ्ट कॉपी के जरिए उपलब्ध कराया जाएगा. बजट इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब कापियों की छपाई नहीं होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 12, 2021, 5:47 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने उन खबरों को खारिज किया है, जिनमें कहा जा रहा था कि कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के चलते इस साल हलवा सेरेमनी का आयोजन नहीं होगा. ANI ने वित्तमंत्रालय के सूत्रों के हवाले से कहा है कि परंपरा के मुताबिक हलवा सेरेमनी (Halwa Ceremony) का आयोजन बजट पेश होने से 10 दिन पहले किया जाएगा. सूत्रों के मुताबिक मंत्रालय ने इस साल बजट की कापियां नहीं छापने का फैसला किया है और ये फैसला कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए लिया गया है. बजट (Budget 2021) की टाइपिंग होगी और इसे ऑनलाइन और सभी के लिए सॉफ्ट कॉपी के जरिए उपलब्ध कराया जाएगा. बजट इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब कापियों की छपाई नहीं होगी.

कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण ने सालों से चली आ रही परंपराओं पर भी इसका बड़ा असर पड़ा है. खबरों के मुताबिक वित्त मंत्रालय ने कहा है कि प्रिंटिंग प्रेस में लगभग 100 लोगों को एक साथ नहीं रखा जा सकता है, इसलिए इस बार बजट पेपर नहीं छपेंगे. बदले में एक कॉमन लिंक उपलब्ध कराया जाएगा, जिसमें सभी सांसद और लोग बजट का पीडीएफ फॉर्मेट देख सकेंगे.

2021 के बजट सत्र का पहला चरण 29 जनवरी से शुरू होगा और 15 जनवरी को समाप्त होगा. 29 जनवरी को राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ ही बजट सत्र की शुरुआत की जाएगा. 1 फरवरी को पेश किया जाएगा. केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने बताया कि बजट सत्र का दूसरा चरण 8 मार्च से 8 अप्रैल तक होगा.





सत्र के संचालन के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का खासतौर पर ध्यान रखा जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज