सीता स्‍वयंवर में सैनिटाइजर, अयोध्‍या में PPE किट और रावण का कोविड आदेश, कुछ ऐसी है ये रामलीला

दिल्‍ली में कुछ ऐसे हो रही है रामलीला.
दिल्‍ली में कुछ ऐसे हो रही है रामलीला.

स्टेज और ग्राउंड को हर दिन दोपहर 2 से 5 बजे तक कीटाणुरहित (Sanitize) किया जाता है. प्रमुख किरदारों को मंचन से पहले कोरोना टेस्‍ट (Coronavirus) कराना पड़ता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2020, 5:51 PM IST
  • Share this:
सागर गुप्‍ता
नई दिल्‍ली.
देश भर में आज दशहरा (Dussehra 2020) का त्‍योहार मनाया जा रहा है. हालांकि इस साल दशहरा का यह पर्व फीका लग रहा है. इसका कारण देश-दुनिया में फैला कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) है. वहीं इस साल अधिकांश जगहों पर होने वाली रामलीला के मंचन की भी लोगों की सुरक्षा को देखते हुए अनुमति नहीं दी गई. दिल्‍ली में भी ऐसा ही है. शहर में हालांकि कुछ रामलीला ऑनलाइन माध्‍यम से चल रही हैं. इनमें भगवान राम, सीता, हनुमान और लंकापति रावण तो दिख रहे हैं, लेकिन अब इनके साथ ही स्‍टेज पर पीपीई किट पहने कलाकार दिख रहे हैं. सीता जी के स्‍वयंवर के दौरान सैनिटाइजर (Sanitizer) का प्रयोग हो रहा है. रावण को कोविड टेस्‍ट के आदेश देने पड़ रहे हैं. ऐसा ही नजारा है दिल्‍ली के शास्‍त्री पार्क में होने वाली विष्‍णु अवतार रामलीला का.

विष्‍णु अवतार रामलीला में अयोध्‍यावासियों का किरदार निभाने वाले लोग पीपीई किट पहने हुए दिख रहे हैं. इसके साथ ही भगवान राम, सीता और लक्ष्‍मण का किरदार निभाने वाले एक्‍टर्स को अभिनय के पहले कोविड 19 का टेस्‍ट करवाना पड़ा. ऐसा इसलिए क्‍योंकि इन किरदारों को रामलीला में कई बार एक-दूसरे को छूना पड़ता है या गले लगना पड़ता है. इनके अलावा अन्‍य जो भी एक्‍टर्स पीपीई किट पहन रहे हैं.


वहीं सीता जी के स्‍वयंवर के दौरान धनुष से निकलने वाले बाण को बार-बार सैनिटाइज किया जाता है. विष्‍णु अवतार रामलीला कमेटी के प्रमुख प्रेम पाल सिंह ने इस संबंध में बताया, 'रामलीला में जिन भी सीन में भीड़ की जरूरत होती है, उनके लिए पहले से सोशल डिस्‍टेंसिंग और पीपीई किट को अनिवार्य कर दिया जाता है. ऐसा उस सीन में भी किया गया जिसमें भरत भगवान राम को लेने के लिए अयोध्‍यावासियों के साथ जाते हैं.'



उनके अनुसार स्‍टेज पर पहले से ही कुछ कलाकारों को पीपीई किट पहनाकर भेजा जाता है. ताकि रामलीला के मंचन के दौरान यह सुनिश्चित किया जा सके कि कलाकार मंचन के वक्‍त सोशख्‍ल डिस्‍टेंसिंग का पालन करें. भगवान राम, सीता, लक्ष्‍मण और हनुमान का अभिनय करने वाले कलाकार नियमित रूप से हैंड सैनिटाइजर का प्रयोग करते हैं. एक सीन में तो रावण अपनी प्रजा से कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ सभी प्रोटोकॉल अपनाने का आदेश देता है.

प्रेम पाल सिंह ने न्‍यूज18 को बताया, 'स्टेज और ग्राउंड को हर दिन दोपहर 2 से 5 बजे तक कीटाणुरहित किया जाता है और कुर्सियों को चार फीट की दूरी पर रखा जाता है. हमने स्टेज का आकार बढ़ा दिया है. ताकि भीड़ कम रहे.' दिल्ली-एनसीआर में विभिन्न रामलीला समितियों में पिछले 10 वर्षों से भगवान राम का किरदार निभा रहे अभिनेता सोनू शर्मा ने कहा, 'मैंने मंच पर आने से पहले कोविड-19 टेस्‍ट कराया था. जिन सीन में गले लगने की आवश्‍यकता है तो उसके शामिल सभी लोगों का पहले कोरोना टेस्‍ट होता है. सुग्रीव, हनुमान या परशुराम ने भी कोविड-19 टेस्‍ट कराया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज