Home /News /nation /

कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी की जमानत याचिका खारिज, कोर्ट ने कहा, 'सामाजिक सद्भावना बढ़ाना हर नागरिक की जिम्मेदारी'

कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी की जमानत याचिका खारिज, कोर्ट ने कहा, 'सामाजिक सद्भावना बढ़ाना हर नागरिक की जिम्मेदारी'

कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी  बढ़ सकती हैं मुश्किलें

कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी बढ़ सकती हैं मुश्किलें

मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की इंदौर बेंच ने बुधवार को मुनव्वर फारूकी (Munawar Faruqui) की जमानत याचिका खारिज कर दी है. कोर्ट ने कहा है कि भाईचारे और सद्भावना का प्रचार करना हर नागरिक का संवैधानिक कर्तव्य है.

    भोपाल. धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में गिरफ्तार हुए कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी को कोर्ट से राहत नहीं मिली है. मध्य प्रदेश हाईकोर्ट (Madhya Pradesh High Court) की इंदौर बेंच ने बुधवार को फरूकी की जमानत याचिका खारिज कर दी है. कोर्ट ने कहा है कि भाईचारे और सद्भावना का प्रचार करना हर नागरिक का संवैधानिक कर्तव्य है. कॉमेडियन पर आरोप है कि उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान धार्मिक भावनाओं का मजाक उड़ाया था.

    इंदौर पुलिस ने कॉमेडियन फारूकी और उनके चार साथियों को गिरफ्तार किया था. उनके खिलाफ बीजेपी सांसद मालिनी गौर के बेटे एकलव्य गौर ने शिकायत दर्ज कराई थी. उन्होंने आरोप लगाया था कि फारूकी ने हिंदू धार्मिक भावनाओं का अपमान किया है. वहीं, इंदौर टीआई कमलेश शर्मा ने कथित रूप से कहा, 'उनके खिलाफ हिंदू देवी-देवताओं या केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का अपमान करने के कोई सबूत नहीं मिले हैं.'

    लाइव लॉ के अनुसार, फारूकी के वकीलों की तरफ से दायर दो याचिकाएं पहले भी खारिज हो चुकी हैं. यह तीसरी और राज्य की हाईकोर्ट में तीसरी याचिका थी. जहां बीती 25 जनवरी को जस्टिस रोहित आर्या ने कहा, 'लेकिन क्यों आप किसी और की धार्मिक भावनाओं का गलत फायदा उठाते हैं. आपकी सोच के साथ क्या गलत है. आप व्यापार के लिए ऐसा कैसे कर सकते हैं.'



    यह भी पढ़ें: प्रयागराज: इंदौर जेल में बंद कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, UP में प्रोडक्शन वारंट जारी

    वहीं, शिकायतकर्ता गौर ने फारूकी की गिरफ्तारी के बाद कहा, 'वो एक अपराधी है, जो हिंदू देवी देवताओं पर कई बार चुटकुले सुनाता है.' गौर ने कहा, 'मैंने जब मुनव्वर के शो के बारे में सुना, तो मैंने टिकट खरीदा और देखने पहुंचा. जैसी की उम्मीद थी, वो हिंदू देवताओं का अपमान कर रहा था और साथ ही गोधरा दंगों में गृहमंत्री अमित शाह का नाम जोड़कर मजाक उड़ा रहा था.'

    इससे पहले फारूकी की जमानत याचिका को मध्य प्रदेश में कोर्ट ने 5 जनवरी को खारिज किया था. वहीं, 14 जनवरी को फारूकी जमानत के लिए मध्य प्रदेश हाईकोर्ट पहुंचा. यहां मामले की सुनवाई अगले दिन तक टाल दी गई थी. यहां भी कॉमेडियन की याचिका को खारिज किया गया. साथ ही उनकी न्यायिक हिरासत को 27 जनवरी तक बढ़ा दिया गया था.undefined

    Tags: Madhya Pradesh High Court

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर