पूर्व तट रेलवे श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनों में जन्म लेने वाले बच्‍चों को देगा गिफ्ट

स्टेशन पर मजदूरों को लाने की तैयारी भी कर ली गई थी. लेकिन अपरिहार्य कारणों से अंतिम समय में ट्रेन की रवानगी कैंसिल कर दी गई. (सांकेतिक तस्वीर)

अधिकारी ने बताया कि भारतीय रेलवे में श्रमिक स्पेशल ट्रेनों (Shramik Special Trains) में कई बच्चों के जन्म लेने की अच्छी खबरें आयी हैं, जिसे अच्छा और शुभ माना जाता है.

  • Share this:
    भुवनेश्वर. पूर्व तट रेलवे अब श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनों (Shramik Special Trains) में जन्म लेने वाले शिशुओं को उपहार देगा. शुक्रवार को एक नवजात शिशु की मां को उपहार देकर रेलवे ने इस पहल की शुरुआत की. रेलवे (Indian Railways) के एक अधिकारी ने बताया कि पूर्व तट रेलवे (ईसीओआर) के अधिकारी स्वैच्छिक रूप से उपहार देंगे, यह नकद या किसी सामान के रूप में हो सकता है.

    अधिकारी ने बताया कि भारतीय रेलवे में श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में कई बच्चों के जन्म लेने की अच्छी खबरें आयी हैं, जिसे अच्छा और शुभ माना जाता है. ईसीओआर जोन का भौगोलिक क्षेत्र तीन राज्यों में फैला हुआ है, जिसमें पूरा ओडिशा और छत्तीसगढ़ और आंध्र प्रदेश के कुछ जिले शामिल हैं.

    इस जोन का मुख्यालय भुवनेश्वर में स्थित है. ईसीओआर के महाप्रबंधक विद्या भूषण ने शुक्रवार को घोषणा की कि रेलवे जोन के अधिकारी व्यक्तिगत और स्वैच्छिक आधार पर जोन के अधिकार क्षेत्र में जन्मे नवजात शिशुओं को उपहार देंगे. इस अच्छी पहल के तहत जीएम ने खुद शुक्रवार सुबह ओडिशा के बलांगीर जिले के टिटिलागढ़ में एक श्रमिक स्‍पेशल ट्रेन में जन्मे बच्चे के लिए 5,000 रुपये की उपहार राशि भेजी.

    अधिकारी ने बताया कि यह उपहार बच्चे की 19 वर्षीय मां मीना कुंभार को भेजा गया. रेलवे के एक प्रवक्ता ने बताया कि मई में जब से श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनें चलनी शुरू हुई हैं, तब से ट्रेनों में 37 बच्चों का जन्म हुआ है.

    यह भी पढ़ें:

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.