US सरकार ने H-1B वीजा नियम को बनाया कठोर, अब EB-5 को मिल रही लोकप्रियता

यूनाइटेड स्टेट ने साल 1990 में ईबी-5 प्रोग्राम बनाया था जिससे हाई नेट वर्थ वाले विदेशी निवेशकों को खुद के लिए और अपने परिवार को लिए तत्काल यूएस वीजा प्राप्त हो सके. हालांकि अब दुनिया भर के विभिन्न देशों के छात्रों द्वारा इस वीजा का फायदा उठाया जा रहा है.

News18Hindi
Updated: March 13, 2018, 8:55 PM IST
US सरकार ने H-1B वीजा नियम को बनाया कठोर, अब EB-5 को मिल रही लोकप्रियता
सांकेतिक तस्वीर
News18Hindi
Updated: March 13, 2018, 8:55 PM IST
अमेरिकी सरकार ने एच1बी वीजा के लिए नियम कड़े कर दिए हैं. एच1बी वीजा अस्थाई वीजा होता है जो किसी विशेष व्यवसाय में जॉब ऑफर के साथ विदेशी वर्कर्स के लिए होता है. हालांकि, अब ईबी-5 वीजा इसके विकल्प के रूप में उभर कर सामने आ रहा है. इतना ही नहीं इसे एच1बी वीजा से भी ज्यादा बेहतर माना जा रहा है.

मनीकंट्रोल की रिपोर्ट के मुताबिक ये वीजा अमीर व्यक्तियों और अधिकारियों के साथ मिडिल क्लास लोगों को अपने बच्चों के भविष्य के लिए अच्छे निवेश के तौर पर दिखाई दे रहा है. इतना ही नहीं  इसे वे यूएस ग्रीनकार्ड धारक बनने के मौके के तौर पर भी देख रहे हैं.

यूएस इमिग्रेशन फंड के बिजनेस डेवलेपमेंट के डायरेक्टर एंड्रयू ग्रूव्स ने बताया कि अधिकतर लोग ईबी-5 वीजा में अपने बच्चों के लिए निवेश करना चाहते हैं. इससे उनके बच्चे अमेरिका जा सकते हैं, वहां रह सकते हैं और इसके लिए उन्हें किसी दूसरे वीजा श्रेणी पर निर्भर रहने की भी कोई जरूरत नहीं होगी.

उन्होंने आगे कहा कि हम हाल ही में मौजूदा एच1बी वीजाधारकों में देख रहे हैं कि वे वहां अपना स्थायी निवास चाहते हैं. एस1बी वीजा अस्थाई है इसलिए वे ईबी-5 वीजा को एक विकल्प के तौर पर देख रहे हैं.

यूनाइटेड स्टेट ने साल 1990 में ईबी-5 प्रोग्राम बनाया था जिससे हाई नेट वर्थ वाले विदेशी निवेशकों को खुद के लिए और अपने परिवार को लिए तत्काल यूएस वीजा प्राप्त हो सके. हालांकि अब दुनिया भर के विभिन्न देशों के छात्रों द्वारा इस वीजा का फायदा उठाया जा रहा है.

ये भी पढ़ें-
भारतीयों के लिए बुरी खबर, अमेरिका ने H1-B वीजा को बनाया सख्त
क्या है भारत और H-1B वीज़ा का कनेक्शन?


 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर