SC वोटर्स पर विवादित बयान देने वाली TMC नेता सुजाता मंडल से EC ने मांगा स्पष्टीकरण

टीएमसी प्रत्याशी सुजाता मंडल ने बयान दिया था कि अनुसूचित जाति के लोग स्वभाव से भिखारी होते हैं.

टीएमसी प्रत्याशी सुजाता मंडल ने बयान दिया था कि अनुसूचित जाति के लोग स्वभाव से भिखारी होते हैं.

West Bengal Assembly Election 2021: केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी इस मामले में चुनाव आयोग से पिछले दिनों मिले थे. उन्होंने पूरे मामले की शिकायत करने के साथ ही कहा कि राज्य में चुनाव के दौरान इस तरह की बयानबाजी कर आचार संहिता का उल्लंघन किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2021, 8:47 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की आरामबाग विधानसभा सीट (West Bengal Assembly Elections 2021) से टीएमसी प्रत्याशी सुजाता मंडल ( TMC Sujata Mondal) के अनुसूचित जाति (SC) पर दिए गए बयान पर राजनीतिक घमासान होने के बाद चुनाव आयोग एक्शन में आ गया है. बीजेपी की शिकायत पर चुनाव आयोग ने तृणमूल कांग्रेस की सुजाता मंडल से 24 घंटे में बयान पर स्पष्टीकरण मांगा है.

दरअसल, केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी इस मामले में चुनाव आयोग से पिछले दिनों मिले थे. उन्होंने पूरे मामले की शिकायत करने के साथ ही कहा कि राज्य में चुनाव के दौरान इस तरह की बयानबाजी कर आचार संहिता का उल्लंघन किया गया है.

चुनाव आयोग में अपनी शिकायत दर्ज करवाने के बाद बीजेपी नेता दुष्यंत गौतम ने कहा था कि पीएम नरेंद्र मोदी ने जितनी भी योजना लागू की उसमें कोई भेदभाव नहीं किया गया. कांग्रेस और टीएमसी का मानना है कि संसाधनों पर अल्पसंख्यकों का हक है. बीजेपी के साथ दलित वर्ग जुट रहा है. हम चुनाव आयोग से टीएमसी पर कार्रवाई की मांग करते है. टीएमसी की मान्यता भी रद्द होनी चाहिए.

क्या बोलीं थी सुजाता मंडल? 
बता दें कि कुछ दिनों पहले एक टीवी चैनल को दिए गए इंटरव्यू में आरामबाग विधानसभा सीट से टीएमसी प्रत्याशी सुजाता मंडल ने बयान दिया था कि अनुसूचित जाति के लोग स्वभाव से भिखारी होते हैं. ममता बनर्जी ने उनके लिए इतना कुछ किया, लेकिन फिर भी चंद पैसों के लिए वो बीजेपी के पीछे-पीछे हो रहे हैं. वो बीजेपी को अपना वोट बेच रहे हैं.

ये भी पढ़ेंः- ‘टीका उत्सव’ कोविड-19 के खिलाफ दूसरी बड़ी लड़ाई की शुरुआत: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने भी साधा था निशाना



पीएम मोदी ने कहा कि बंगाल के लोगों से दीदी की नफरत बढ़ती जा रही है. दीदी के लोग बंगाल के अनुसूचित जाति (SC) के लोगों को गाली देने लगे हैं. उन्हें भिखारी कहने लगे हैं. दीदी की पार्टी ने बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर का अपमान किया है.



पीएम मोदी ने कहा था, 'बाबा साहेब की आत्मा को दीदी के कड़वे शब्द सुनकर कितना कष्ट हुआ होगा. वो राजा राम मोहन राय जिन्होंने जाति प्रथा के खिलाफ देश को झकझोरा, इस कुरीति को मिटाने के लिए देश को दिशा दिखाई, उनके बंगाल में दीदी ने दलितों को इतना बड़ा अपमान किया है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज