कपिल सिब्बल बोले- इकॉनमी ICU में, प्रोत्साहन पैकेज की जरूरत

कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने चिदंबरम (Chidambaram) की गिरफ्तारी और अर्थव्यवस्था (Economy) में सुस्ती का हवाला देते हुए ट्वीट किया.

News18Hindi
Updated: August 23, 2019, 11:21 AM IST
कपिल सिब्बल बोले- इकॉनमी ICU में, प्रोत्साहन पैकेज की जरूरत
कपिल सिब्बल ने चिदंबरम की गिरफ्तारी और अर्थव्यवस्था में सुस्ती का हवाला देते हुए ट्वीट किया.
News18Hindi
Updated: August 23, 2019, 11:21 AM IST
पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम(Former Finance Minister P. Chidambaram) की आईएनएक्स मीडिया(INX Media) मामले में गिरफ्तारी को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल(Senior Congress leader Kapil Sibal) ने शुक्रवार को सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि मौजूदा समय में देश की अर्थव्यवस्था और नागरिकों की आजादी के मकसद को प्रोत्साहन पैकेज की जरूरत है.

उन्होंने चिदंबरम की गिरफ्तारी और अर्थव्यवस्था में सुस्ती का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ' पिछले कुछ हफ़्तों के घटनाक्रमों से पता चलता है कि अर्थव्यवस्था और नागरिकों की आजादी के मकसद, दोनों को प्रोत्साहन पैकेज की जरूरत है.'

उन्होंने दावा किया, ' अर्थव्यवस्था आईसीयू में है और सरकार उन लोगों के लिए लुकआउट नोटिस जारी कर रही है जो नागरिकों की आजादी का बचाव कर रहे हैं.'



21 अगस्त की रात गिरफ्तार हुए चिदंबरम

गौरतलब है कि सीबीआई (CBI) ने चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया से संबंधित मामले में बुधवार, 21 अगस्त की रात गिरफ्तार किया है. पूर्व केंद्रीय मंत्री चिदंबरम ने अपने खिलाफ लगे आरोपों को झूठा करार देते हुए उम्मीद जताई थी कि जांच एजेंसियां कानून का सम्मान करेंगी.

बता दें गुरुवार को दिल्ली की एक अदालत ने आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में कांग्रेस नेता पी चिदंबरम को चार दिन के लिए सीबीआई की हिरासत में सौंप दिया और कहा कि उनसे हिरासत में पूछताछ न्यायोचित है.
Loading...

अदालत ने साथ ही सीबीआई को यह सुनिश्चित करने को कहा कि चिदंबरम की व्यक्तिगत गरिमा का किसी भी तरीके से हनन नहीं हो . अदालत ने कहा कि चिदंबरम 26 अगस्त तक सीबीआई की हिरासत में रहेंगे, जिस दौरान एजेंसी नियमों के अनुसार उनकी नियमित चिकित्सा जांच कराएगी. अदालत ने चिदंबरम के परिजनों और वकीलों को उनसे रोजाना आधा घंटे तक मुलाकात की इजाजत दे दी.

विशेष न्यायाधीश अजय कुमार कुहाड़ ने कहा, ‘‘तथ्यों और परिस्थितियों पर विचार करने के बाद मेरी राय है कि पुलिस हिरासत न्यायोचित है.’’उन्होंने चिदंबरम को 26 अगस्त तक की सीबीआई की हिरासत में भेज दिया.

यह हैं आरोप

चिदंबरम के वित्त मंत्री रहने के दौरान 2007 में आईएनएक्स मीडिया समूह को विदेशी निवेश संवर्द्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की मंजूरी दिलाने में बरती गई कथित अनियमितताओं को लेकर सीबीआई ने 15 मई 2017 को एक प्राथमिकी दर्ज की थी. यह मंजूरी 305 करोड़ रूपये का विदेशी धन प्राप्त करने के लिए दी गई थी.

इसके बाद, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भी 2018 में इस सिलसिले में धनशोधन का एक मामला दर्ज किया था.

यह भी पढ़ें:  CBI ने कोर्ट में गिनाए चिदंबरम के ये 'गुनाह'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 23, 2019, 11:01 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...