होम /न्यूज /राष्ट्र /सीमा पर पशु तस्कर मामले में ED की बड़ी कार्रवाई, 1000 करोड़ से ज्यादा का  हवाला कारोबारी इनामुल हक गिरफ्तार

सीमा पर पशु तस्कर मामले में ED की बड़ी कार्रवाई, 1000 करोड़ से ज्यादा का  हवाला कारोबारी इनामुल हक गिरफ्तार

सूत्रों के मुताबिक पश्चिम बंगाल से बांग्लादेश में मवेशी व्यापार का हर महीने करोड़ों रुपए का अवैध कारोबार का मामला बेहद गंभीर है.

सूत्रों के मुताबिक पश्चिम बंगाल से बांग्लादेश में मवेशी व्यापार का हर महीने करोड़ों रुपए का अवैध कारोबार का मामला बेहद गंभीर है.

Cross-border Cattle Smuggling Case: जांच एजेंसी के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक इस मामले में कुछ राजनीतिक शह पर कई बड़े हव ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. केंद्रीय जांच एजेंसी ईडी ने एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए पश्चिम बंगाल के पशु तस्करी और हवाला कनेक्शन से जुड़े मामले में अवैध मवेशी व्यापार का मास्टरमाइंड मोहम्मद इनामुल हक (Hawala Operator Inamul Haq) को गिरफ्तार कर लिया है. जांच एजेंसी के सूत्रों के मुताबिक दिल्ली स्थित मुख्यालय में कल पूछताछ के लिए इनामुल को बुलाया गया था. पूछताछ के बाद तमाम सबूतों और बयान के मुताबिक मिले महत्वपूर्ण सुराग के आधार पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

गिरफ्तारी के बाद इनामुल के परिजनों को औपचारिक तौर पर सूचित किया गया. शनिवार को ईडी की टीम आरोपी को दिल्ली स्थित रॉऊज एवेन्यू कोर्ट में पेश करके ,कोर्ट से उसकी रिमांड मांगेगी और हिरासत में लेने के बाद आगे विस्तार से पूछताछ की जाएगी. जांच एजेंसी के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक इस मामले में कुछ राजनीतिक शह पर कई बड़े हवाला कारोबारियों, पशु तस्करों का कनेक्शन सामने आ सकता है. इसके साथ ही इसकी मदद करने वाले कई पुलिस अधिकारी अज्ञात आरोपियों के खिलाफ तफ्तीश की जा रही है.

मास्टरमाइंड का राजनीतिक गलियारों में भी रही है पकड़
सूत्रों के मुताबिक पश्चिम बंगाल से बांग्लादेश में मवेशी व्यापार का हर महीने करोड़ों रुपए का अवैध कारोबार का मामला बेहद गंभीर है. केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने साल 2020 में एक एफआईआर दर्ज करके कई आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की थी, बाद में उसी मामले को आधार बनाते हुए ईडी ने मामला दर्ज किया था. ईडी द्वारा तफ्तीश के दौरान यह पता चला कि अवैध मवेशी व्यापार का मास्टरमाइंड मोहम्मद इनामुल हक है जो तकरीबन 1000 करोड़ से भी ज्यादा का हवाला कारोबार को अंजाम दे चुका है. यह करोड़ो रुपये हवाला के मार्फत उन सरकारी अधिकारियों और उसके कनेक्शन से जुड़े लोगों को देता है ,जो उसके इस काला धंधा को आगे बढ़ाने में मदद करता रहा है. इस काले धंधे को अंजाम देने के लिए भारत-बांग्लादेश के बॉर्डर इलाके में तैनात सीमा सुरक्षा बल (BSF ) के कुछ जवानों और अधिकारियों के साथ सांठगांठ करके अवैध तौर पर मवेशियों की तस्करी की जाती रही है. इस तस्करी के धंधे को गुलाम मुस्तफा , अनारूल प्रमुख तौर पर सहयोगी हैं.

पिछले कई सालों से अवैध मवेशी कारोबार को इनामुल दे रहा है अंजाम
ईडी मुख्यालय की टीम द्वारा अवैध मवेशी व्यापार का मास्टरमाइंड मोहम्मद इनामुल हक को शुक्रवार को पूछताछ के लिए बुलाया गया था ,जो पिछले कई सालों से कई भ्रस्ट अधिकारी और हवाला कारोबारियों की मदद से इसे चलाया जा रहा था ,पूछताछ के दौरान उससे उसके पश्चिम बंगाल के सीमावर्ती जिला जैसे मालदा , नदिया ,मुर्शिदाबाद , उत्तर 24 परगना सहित अन्य इलाकों में कौन -कौन उसके सहयोगी हैं ,किस-किस सरकारी अधिकारियों, कर्मचारियों , अर्धसैनिक बल के जवानों के साथ उसके कनेक्शन हैं इस मामले में विस्तार से पूछताछ की गई, इसके साथ ही कौन कौन उसे मदद करता है ,उसके बारे में भी पूछताछ की गई.

ईडी की तफ़्तीश के दौरान मोहम्मद इनामुल हक की तीन कंपनियों के बारे में भी और उससे जुड़े तमाम संदिग्ध बैंकिंग लेनदेन के बारे में पूछताछ की गई. ईडी की टीम द्वारा हक़ इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड , ईएम ट्रेडर्स प्राइवेट लिमिटेड के बारे में पूछताछ की गई थी. इन तीनों कंपनियों का निदेशक खुद इनामुल है.

Tags: Enforcement directorate

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें