PNB घोटाला: नीरव मोदी के शोरूम से 5100 करोड़ के आभूषण जब्त, ED ने की पासपोर्ट रद्द करने की मांग

प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) ने नीरव मोदी की 5,100 करोड़ की संपत्ती सीज की है. सीज की गई संपत्ति में ज्वैलरी, सोना, और कैश शामिल है.

News18Hindi
Updated: February 16, 2018, 7:55 AM IST
PNB घोटाला: नीरव मोदी के शोरूम से 5100 करोड़ के आभूषण जब्त, ED ने की पासपोर्ट रद्द करने की मांग
ईडी ने नीरव मोदी के शोरूम्स में गुरुवार को छापे मारे
News18Hindi
Updated: February 16, 2018, 7:55 AM IST
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने नीरव मोदी की 5,100 करोड़ की संपत्ति जब्त की है. जब्त की गई संपत्ति में ज्वैलरी, सोना, और कैश शामिल है. ईडी ने पासपोर्ट अधिकारियों से नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और अमी मोदी के पासपोर्ट रद्द करने की मांग की है.

बता दें कि पंजाब नेशनल बैंक (PNB) से जुड़े करीब 11,330 करोड़ रुपए के घोटाले में एफआईआर दायर होने से पहले ही इसके मुख्‍य सूत्रधार और डायमंड व्‍यापारी नीरव मोदी के देश छोड़कर भागने की खबर मिली थी. सूत्रों के मुताबिक, नीरव 1 जनवरी को ही देश छोड़ चुके हैं और फिलहाल स्विट्जरलैंड में हैं.  प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने नीरव मोदी के 12 ठिकानों पर छापे मारे. मुंबई स्थित उसके घर और दफ्तर की तलाशी ली जा रही है. ईडी ने नीरव मोदी के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग और 280 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है.

फिलहाल ईडी की टीमें नीरव मोदी के घर, शोरूम और दफ्तरों में सर्च अभियान में लगी हैं और दस्‍तावेज खंगाल रही हैं. प्रवर्तन निदेशालय ने यह मामला इस महीने की शुरुआत में दर्ज हुई सीबीआई की प्राथमिकी के आधार पर दर्ज किया है.

ईडी की कार्रवाई में जब्त किए गए आभूषण और हीरे


इस घोटाले के आरोपी 48 वर्षीय मोदी मशहूर डायमंड ब्रोकर हैं. अमेरिका के मशहूर वार्टन स्कूल के ड्रॉप आउट मोदी के नाम से उनका ज्वैलरी ब्रांड इतना मशहूर है कि उसके दम पर वे फोर्ब्स के भारतीय धनकुबेरों की 2017 की लिस्‍ट में 84वें नंबर पर पहुंच गए थे. वे 1.73 अरब डॉलर यानी लगभग 110 अरब रुपये के मालिक हैं और उनकी कंपनी का राजस्व 2.3 अरब डॉलर यानी लगभग 149 अरब रुपये है.

बता दें कि पीएसयू बैंक- पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में करीब 1.77 अरब डॉलर यानी करीब 11,330 करोड़ रुपए का स्‍कैम पकड़ा गया है. यह मामला मुंबई के एक ब्रांच से जालसाजी के जरिए किए गए अनधिकृत ट्रांजैक्शन से जुड़ा है. इस फर्जीवाड़े के बाद पीएनबी का शेयर बुधवार को 10 फीसदी तक टूट गया, जिससे निवेशकों के 3000 करोड़ रुपए डूब गए. यह पीएनबी के कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन का लगभग एक-तिहाई है. घोटाले में पीएनबी के 10 अधिकारियों-कर्मचारियों के नाम के साथ ही अरबपति डायमंड व्‍यापारी नीरव मोदी और गीतांजलि जेम्‍स के प्रमुख मेहुल चोकसी के नाम भी आए हैं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर