आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने मुस्लिमों से कहा, 'कट्टरता' को तलाक दे दो!

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की ओर से बुधवार को संसद भवन के एक हॉल में अंतरराष्ट्रीय ईद मिलन समारोह का आयोजन किया गया था. समारोह के मुख्य वक्ता मुस्लिम मंच के मार्गदर्शक इंद्रेश कुमार थे.

नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: June 13, 2019, 9:52 AM IST
आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने मुस्लिमों से कहा, 'कट्टरता' को तलाक दे दो!
ईद मिलन समारोह में इंद्रेश कुमार
नासिर हुसैन
नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: June 13, 2019, 9:52 AM IST
मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की ओर से बुधवार को संसद भवन के एक हॉल में अंतरराष्ट्रीय ईद मिलन समारोह का आयोजन किया गया था. समारोह के मुख्य वक्ता मुस्लिम मंच के मार्गदर्शक इंद्रेश कुमार थे. समारोह के दौरान कई देशों के राजदूत भी मौजूद रहे. वहीं देश के कई राज्यों से ऐसे सैंकड़ों मुस्लिम भी आए थे जो मंच से जुड़े हुए हैं. इसमें बड़ी संख्या महिलाओं की भी थी. इस मौके पर मंच के नेताओं ने मुस्लिमों से 'कट्टरता को तलाक' देने की अपील की.

समारोह को संबोधित करते हुए इंद्रेश कुमार ने कहा, 'मैंने देश में माने जाने वाले सभी धर्म और संप्रदाय में बात की, विदेशों में माने जा रहे सभी धर्म के लोगों से भी बात की और एक ही चीज पूछी कि क्या आपके धर्म की पवित्र किताब में कहीं भी एक बार कट्टरता शब्द लिखा है क्या?'



उन्होंने कहा, 'बड़ी हैरत की बात है कि सभी ने मुझे ना में उत्तर दिया. देश ही नहीं दुनिया का कोई भी एक ऐसा इंसान नहीं मिला, जिसने कहा हो कि किसी धर्म या संप्रदाय की पवित्र किताब में कट्टरता शब्द लिखा है. जब हमारी पवित्र किताबों में कट्टरता शब्द नहीं लिखा है तो फिर ये लोगों के दिल और दिमाग में कहां से आ गया? इसीलिए मैं अपील करता हूं कि ईद के मुबारक मौके पर आप खुदा से वादा करो कि कट्टरता को नहीं मानोगे और आज ही कट्टरता को तलाक दे दो.'

      समारोह में मौजूद विभिन्न देशों के राजदूत और दूसरे लोग

इंद्रेश कुमार बोले पहली बार मुझे कश्मीर से आया था 'लव लैटर'
इंद्रेश कुमार ने कहा कि मुस्लिम राष्ट्रीय मंच कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक काम कर रहा है. हमें बहुत सारे लोगों का प्यार मिलता है. यही वजह है कि मुझे सबसे पहला जो लव लेटर कश्मीर से मिला था वो किसी लड़की या महिला ने नहीं लिखा था. वो लव लेटर आतंकवादियों की ओर से आया था. मुझे धमकी दी गई थी. मेरे ऊपर कई बार हमला भी हो चुका है. तीन बार कश्मीर में मेरे अपहरण की कोशिश भी हो चुकी है.  इस मौके पर मंच के राष्ट्रीय संयोजक इस्लाम अब्बास, मोहम्मद अफज़ाल और मौलाना आज़ाद फाउंडेशन के वाइस प्रेसीडेंड अशफाक सैफी भी मौजूद थे.

ये भी पढ़ें- 
Loading...

‘शरीयत में नहीं तुरंत तीन तलाक का जिक्र, कथित उलेमाओं ने बनाया शिगूफा’

दबंगों ने सिर्फ इस लिए दलित के तोड़ दिए हाथ! न्याय के लिए भटक रहा परिवार
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...