प्रचार का शोर थमने के बाद घोषणापत्र जारी नहीं कर सकेंगी पार्टियां: चुनाव आयोग

लोकसभा चुनाव, लोकसभा चुनाव 2019, चुनाव आयोग, घोषणा पत्र, बीजेपी, कांग्रेस, चुनावी आचार संहिता, Election Commission, Lok Sabha Election 2019, Mission 2019, Manifesto, BJP, Congress, Model Code of conduct

News18Hindi
Updated: March 16, 2019, 9:18 PM IST
प्रचार का शोर थमने के बाद घोषणापत्र जारी नहीं कर सकेंगी पार्टियां: चुनाव आयोग
प्रतीकात्मक फोटो
News18Hindi
Updated: March 16, 2019, 9:18 PM IST
आगामी लोकसभा चुनाव और भविष्य में होने वाले हर चुनाव के लिए चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों के लिए घोषणापत्र जारी करने की टाइमलाइन तय कर दी है. चुनाव आयोग ने फैसला दिया है कि रिप्रेजेंटेशन ऑफ पीपल एक्ट, 1951 के सेक्शन 126 के तहत निषेधात्मक अवधि के दौरान किसी भी चरण के चुनाव के लिए राजनीतिक दल घोषणापत्र जारी नहीं कर सकेंगे.

वोटिंग शुरू होने से 48 घंटे पहले निषेधात्मक अवधि शुरू हो जाती है. चुनावी आचार संहिता के मुताबिक, इस दौरान चुनावी प्रचार का शोर पूरी तरह थम जाता है और उम्मीदवार केवल डोर टू डोर कैम्पेन कर सकते हैं.

चुनाव आयोग ने यह साफ किया कि इस नियम का पालन भविष्य में होने वाले हर चुनाव चुनावी आचार संहिता के तहत किया जाएगा.


Loading...

इससे पहले कई मौकों पर देखा गया है कि राजनीतिक दलों ने ऐन वक्त पर यानी मतदान से कुछ घंटों पहले ही घोषणा पत्र जारी किए. आयोग के नए नियम के लागू होने के बाद राजनीतिक दल ऐसा नहीं कर सकेंगे. उन्हें किसी भी चरण की वोटिंग शुरू होने से 48 घंटे पहले ही घोषणा पत्र जारी करना होगा. एक चरण की निषेधात्मक अवधि में वे दूसरे या किसी और चरण के लिए घोषणा पत्र जारी नहीं कर सकेंगे.

बता दें कि चुनाव आयोग ने आगामी लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है. मतदान की प्रक्रिया सात चरणों में पूरी होगी. पहले चरण की वोटिंग 11 अप्रैल को और आखिरी चरण की वोटिंग 19 मई को होगी. वोटों की गिनती 23 मई को होगी और इसी दिन नतीजे घोषित किए जाएंगे.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...