Assembly Banner 2021

Assam Election 2021: मोहिलरी के खिलाफ टिप्पणी मामले में चुनाव आयोग ने हिमंत बिस्व सरमा को जारी किया नोटिस

हिमंत बिस्‍वा सरमा   (File pic)

हिमंत बिस्‍वा सरमा (File pic)

कांग्रेस ने यह आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग का रुख किया था कि हिमंत बिस्व सरमा ने एनआईए का दुरुपयोग कर मोहिलरी को जेल भेजने की धमकी दी है.

  • Share this:
दिसपुर. चुनाव आयोग (Election Commission) ने असम के मंत्री एवं भाजपा नेता हेमंत बिस्व सरमा (Himant Biswa Sarma) को विपक्षी दल बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट के नेता हग्रामा मोहिलरी के खिलाफ कथित तौर पर धमकाने वाली टिप्पणियां करने के लिए गुरुवार को कारण बताओ नोटिस जारी किया. उन्हें दो अप्रैल को शाम पांच बजे तक इस नोटिस पर जवाब देने को कहा गया है.

कांग्रेस ने यह आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग का रुख किया था कि सरमा ने राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) का दुरुपयोग कर मोहिलरी को जेल भेजने की धमकी दी है. बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट असम में कांग्रेस की सहयोगी पार्टी है.

Youtube Video




असम विधानसभा चुनाव: दूसरे चरण में शांतिपूर्ण तरीके से मतदान जारी
वहीं असम विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में 39 सीटों के लिए हो रहे मतदान के दौरान सुबह स्थिति शांतिपूर्ण रही और बड़ी संख्या में मतदाता मतदान करने आए. एक निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि कुछ मतदान केंद्रों पर ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतें मिली थीं और उन्हें तत्काल बदलने के बाद मतदान निर्बाध जारी रहा. बराक घाटी, पर्वतीय क्षेत्र और मध्य एवं निचले असम में 13 जिलों के 10,592 मतदान केंद्रों में से अधिकतर के बाहर सुबह से मतदाताओं की लंबी कतारें देखी गईं.

बड़ी संख्या में महिलाएं मताधिकार का इस्तेमाल करने पहुंचीं. अधिकतर स्थानों पर लोगों को मास्क पहने और सामाजिक दूरी समेत कोविड-19 के दिशा निर्देशों का पालन करते देखा गया. मतदान केंद्रों पर सेनिटाइजर एवं एक बार इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक के दस्ताने उपलब्ध कराए गए और थर्मल स्कैनर से मतदाताओं के शारीरिक तापमान की जांच की जा रही है. मतदाता मतदान केंद्रों के बाहर छह फुट की दूरी पर बनाए गए गोलों के भीतर खड़े दिखे.

कछार जिले में वरिष्ठ नागरिकों को लाने-ले जाने के लिए ई-रिक्शा उपलब्ध कराए गए और उन्हें मतदान करने की इच्छा के लिए सम्मानित किया गया. मतदान केंद्रों पर व्हीलचेयर का भी प्रबंध था. स्वयंसेवकों को बुजुर्ग एवं दिव्यांगजन को मतदान केंद्रों तक ले जाते देखा गया. वरिष्ठ नागरिकों के लिए विश्राम स्थल भी बनाए गए, जहां वे मतदान के लिए अपनी बारी का इंतजार करते समय बैठ सकते हैं. मतदान सुबह सात बजे आरंभ हुआ था, जो शाम छह बजे तक चलेगा. कोरोना वायरस महामारी के कारण एक घंटे का अतिरिक्त समय दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज