लाइव टीवी

चुनाव आयोग से सिक्किम के सीएम प्रेम सिंह तमांग को बड़ी राहत, चुनाव लड़ने का रास्ता साफ

News18Hindi
Updated: September 29, 2019, 7:32 PM IST
चुनाव आयोग से सिक्किम के सीएम प्रेम सिंह तमांग को बड़ी राहत, चुनाव लड़ने का रास्ता साफ
भारत निर्वाचन आयोग ने प्रेम सिंह तमांग के चुनाव लड़ने की अयोग्यता की अवधि को कम कर दिया है.

भारत निर्वाचन आयोग (Election Commision of India) के फैसले से सिक्किम (Sikkim) के मुख्यमंत्री तमांग के चुनाव लड़ने का रास्ता साफ हो गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 29, 2019, 7:32 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत निर्वाचन आयोग (Election Commision of India) से सिक्किम (Sikkim) के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग (CM Prem Singh Tamag) को बड़ी राहत मिली है. चुनाव आयोग ने चुनाव लड़ने की अयोग्यता की अवधि को कम कर दिया है.

चुनाव आयोग के फैसले से सिक्किम के मुख्यमंत्री तमांग के चुनाव लड़ने का रास्ता साफ हो गया है. तमांग अभी सिक्किम विधानसभा के सदस्य नहीं हैं. भ्रष्टाचार के एक मामले में दोषी होने की वजह से उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगी थी.

तमांग ने लगाई थी आयोग से गुहार
चुनाव आयोग से तमांग ने गुहार लगाई थी की अयोग्यता की अवधि को खत्म किया जाये. ऐसे में चुनाव आयोग ने अपने अधिकारों का उपयोग करते हुए यह फैसला लिया है. अगर चुनाव आयोग तमांग की गुहार नहीं मानता तो सिक्किम के मुख्यमंत्री को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ता क्योंकि बिना विधानसभा सदस्य रहे कोई 6 महीने से ज्यादा वक्त तक सीएम नहीं रह सकता है.

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने तमांग को अयोग्य करार देते हुए छह साल तक चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी थी. यह रोक 10 अगस्त 2018 को जेल की सजा पूरी होने के साथ शुरू हुई थी और यह 10 अगस्त 2024 तक प्रभावी रहती लेकिन चुनाव आयोग ने रविवार को इसे घटा कर एक साल एक महीने कर दिया. इस फैसले के साथ ही 10 सितंबर को उनकी अयोग्यता अवधि समाप्त हो गई और अब वह चुनाव लड़ सकते हैं.

अयोग्यता के कारण नहीं लड़ पाए थे चुनाव
तमांग की सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा पार्टी ने अप्रैल में हुए विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज की थी और 27 मई को उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली लेकिन अयोग्यता के कारण चुनाव नहीं लड़ सके. इस पद पर रहने के लिए शपथ लेने के छह महीने के भीतर विधानसभा सदस्य बनना आवश्यक है.
Loading...

उल्लेखनीय है कि तमांग को 1990 में पशुपालन विभाग की गाय बांटने की योजना में सरकारी धन में अनियमितता करने का दोषी पाया गया था. तमांग ने जुलाई महीने में चुनाव आयोग से अयोग्यता अवधि में जनप्रतिनिधि कानून की धारा- 11 के तहत राहत देने की मांग की थी.

भाजपा ने उपचुनाव के लिए किया गठबंधन
वहीं इस साल सिक्किम विधानसभा चुनाव में खाता भी नहीं खोलने वाली भाजपा ने 21 अक्टूबर को तीन विधानसभा सीटों के लिए होने वाले उपचुनाव में सत्तारूढ़ एसकेएम के साथ गठबंधन किया है.

 

(भाषा के इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें-
13 राज्‍यों की 32 विधानसभा सीटों के लिए बीजेपी ने किया उम्‍मीदवारों का ऐलान

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 29, 2019, 4:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...