• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • एक मिजो पार्टी के नाम ने दो घंटे लेट किए चुनाव आयोग के नतीजे

एक मिजो पार्टी के नाम ने दो घंटे लेट किए चुनाव आयोग के नतीजे

सांकेतिक तस्वीर.

सांकेतिक तस्वीर.

मतगणना के दिन चुनाव आयोग की अपनी वेबसाइट अन्य वेबसाइटों की तुलना में करीब 2 घंटे देरी से अपडेट हो रही थी.

  • Share this:
    'नाम में क्या रखा है?' पूरी दुनिया चाहे कितनी ही बार यह बात कहे, भारत के चुनाव आयोग को अच्छी तरह पता है कि नाम में बहुत कुछ रखा है.

    पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के वोटों की गिनती मंगलवार को हुई. पूरा देश नतीजों के लिए टीवी, फोन और कम्प्यूटर से चिपका हुआ था. मीडिया संस्थान राजस्थान, मिजोरम, तेलंगाना, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की एक-एक विधानसभा सीट पर नजर बनाए हुए थे ताकि जनता को नतीजों का तेज से तेज अपडेट दे सकें. उस दिन हर वेबसाइट ताजा रुझान और नतीजे तेजी से अपडेट कर रही थी, सिवाय एक के.

    कांग्रेस ने पेश किया सरकार बनाने का दावा, मुख्यमंत्री का ऐलान राहुल के भरोसे

    उस दिन चुनाव आयोग की अपनी वेबसाइट अन्य वेबसाइटों की तुलना में करीब 2 घंटे देरी से अपडेट हो रही थी. भले ही कुछ लोग इसका दोष पुराने सिस्टम या स्लो इंटरनेट ऐप्स को दें पर इसकी असल वजह कुछ और ही थी. यकीन मानिये बेहद इंटरेस्टिंग भी.

    इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, मिजोरम की एक पार्टी का नाम तय 60 कैरेक्टर लिमिट से बड़ा था जिसके चलते चुनाव आयोग को नतीजे फीड करने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा था.

    OPINION: ऐसे ही नतीजे रहे तो BJP हिंदी भाषी राज्‍यों में हार सकती है 100 लोकसभा सीटें

    मिजोरम की एक पार्टी का नाम 'पीपल्स रिप्रेजेंटेशन फॉर आईडेंटिटी एंड स्टेटस ऑफ मिजोरम (PRISM)' है. यह नाम चुनाव आयोग के सिस्टम और सॉफ्टवेयर की क्षमता के हिसाब से काफी लंबा है. इस नाम के साथ नतीजे प्रोसेस करने में आयोग को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. तो जाहिर है कि नाम में बहुत कुछ लगा है.

    रिपोर्ट के मुताबिक परेशानी का पता चलते ही इसे जल्द से जल्द सुधार लिया गया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज