चुनाव आयोग का फैसला, कोरोना काल में देश की 57 सीटों पर होगा उपचुनाव

चुनाव आयोग का फैसला, कोरोना काल में देश की 57 सीटों पर होगा उपचुनाव
चुनाव आयोग ने 57 सीटों पर उप चुनाव कराने का फैसला किया है.

चुनाव आयोग (Election Commission of India) ने विधानसभा और लोकसभा की 58 सीटों पर उपचुनाव (By Elections ) कराने का फैसला किया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. चुनाव आयोग (Election Commission of India) ने देश के अलग-अलग राज्यों में विधानसभा और लोकसभा की 57 सीटों पर उपचुनाव  (By Elections) कराने का फैसला किया है. चुनाव आयोग ने शुक्रवार को सभी सीटों पर चुनाव की संभावना पर बैठक की और तय किया कि चुनाव कराए जाएंगे. कोरोना काल मे देशभर की कुल 56 विधानसभा सीट और एक लोकसभा सीट पर उपचुनाव कराया कराया जाएगा. हालांकि चुनाव आयोग 8 सीटों पर उपचुनाव को 7 सितंबर तक टालने का फैसला पहले कर चुका था. आज की बैठक के बाद इन सीटों पर भी चुनाव कराने का फैसला हुआ है.

उपचुनाव वाली 57 सीटों में मध्यप्रदेश की 24 विधानसभा की सीटें भी शामिल है जहां उपचुनाव होना है. चुनाव आयोग की आज की बैठक में बिहार चुनाव कराने की संभावना पर कोई चर्चा नहीं हुई है. चुनाव आयोग पहले कह चुका है कि आयोग की तैयारी बिहार चुनाव के लिए समय पर है. बिहार में विधानसभा चुनाव 29 नवंबर से पहले कराना है.

कहां कितनी सीटें खाली?
बता दें मध्य प्रदेश में 24 सीटों के लिए विधानसभा उपचुनाव होना है. इनमें से दो सीटें जौरा और आगर मालवा की ऐसी हैं, जो कांग्रेस और बीजेपी के विधायकों के निधन की वजह से खाली हुई हैं. इन सीटों पर 6 महीने में चुनाव की मियाद निकल चुकी है.
बाकी 22 सीटें सिंधिया समर्थक विधायकों के कांग्रेस पार्टी छोड़ने की वजह से खाली हुई हैं. कांग्रेस विधायकों ने मार्च में विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया था और उन्होंने बीजेपी जॉइन कर ली थी. इस लिहाज से 20 सितंबर से पहले तक चुनाव हो जाना जरूरी है.



इसके साथ ही पश्चिम बंगाल में चार विधानसभा, ओडिशा में दो, मणिपुर में 11 विधानसभा सीटें, पुडुचेरी की एक सीट, कर्नाटक की दो सीटें  उत्तर प्रदेश में चार विधानसभा सीटें  खाली हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज