Assembly Banner 2021

तमिलनाडु: इस उम्मीदवार ने हेलीकॉप्टर,1 करोड़ कैश, तीन मंजिला घर और चांद की सैर कराने का किया वादा

तमिलनाडु में एक स्वतंत्र उम्मीदवार सर्वनन के चुनावी वादे सुनकर हर कोई हैरान है.

तमिलनाडु में एक स्वतंत्र उम्मीदवार सर्वनन के चुनावी वादे सुनकर हर कोई हैरान है.

तमिलनाडु (Tamil Nadu) में स्वतंत्र उम्मीदवार (Independent candidate) सर्वनन ने कहा, कि पिछले 50 सालों में राजनीतिक दलों ने जिन योजनाओं की घोषणा की थी उनमें से एक भी वादा पूरा नहीं किया. लोगों को जागरूक करने के लिए मैंने ऐसा चुनावी घोषणा पत्र जारी किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 2:38 PM IST
  • Share this:
मदुरै. विधानसभा चुनाव (Assembly elections) आते ही सभी पार्टियों ने अपने-अपने चुनावी घोषणापत्र (Election Manifesto) जारी कर दिए हैं. सभी ने मतदाताओं के सामने वादों की झड़ी लगा दी है. बड़ी पार्टियों के बीच कुछ स्‍वतंत्र उम्‍मीदवार भी हैं जो अपने क्षेत्र के लोगों के सामने बड़े-बड़े वादे करते दिखाई दे रहे हैं. तमिलनाडु (Tamil Nadu) में एक स्वतंत्र उम्मीदवार (Independent candidate) ने अपने चुनावी घोषणापत्र में जिस तरह का वादा अपने वोटरों से किया है, उसको पढ़कर कोई भी दांतों तले उंगलियां दबा लेगा. इस उम्मीदवार ने वादा किया है कि अगर वह चुनाव जीत जाता है तो वह अपने चुनाव क्षेत्र के सभी परिवारों को एक आइफ़ोन, एक कार, एक हेलीकॉप्टर, एक नाव, एक रोबोट, एक तीन मंज़िला भवन देगा, जिसमें स्वीमिंग पूल भी होगा.

इसके अलावा वह युवाओं को एक करोड़ रुपये देगा और लोगों को 100 दिन की छुट्टी पर चांद की सैर कराएगा. वह अपने क्षेत्र में जिस तरह की बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराएगा, उसमें शामिल हैं एक अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र, रॉकेट प्रक्षेपण केंद्र, और 300 फ़ीट की ऊंचाई पर एक कृत्रिम आइसबर्ग (हिम पहाड़) ताकि दक्षिण मदुरै के उसके विधानसभा क्षेत्र के लोगों को गर्मी से छुटकारा मिल सके. सर्वनन नामक इस उम्मीदवार की उम्र 34 साल है और उसका कहना है कि वह राजनीति में युवाओं की भागीदारी को बढ़ावा देगा.

हम में से कई लोग यह नहीं जानते कि हम चुनाव में किस तरह भागीदारी करें. मैं इसी प्रक्रिया को समझने के लिए चुनाव लड़ रहा हूं. अगर लोगों को जानकारी होगी, तो उनसे राजनीतिक डरेंगे और इससे प्रशासन को बेहतर बनाने में मदद मिलेगी.




सर्वनन ने कहा, 'चुनाव खर्च के लिए मैंने 20,000 रुपये प्रतिमाह की किश्त पर पैसे लिए हैं. मैंने अपने नामांकन पर 10 हज़ार रुपये खर्च किया. दक्षिण मदुरै में 2,30,000 वोट हैं. अगर 5000 युवा चुनाव लड़ते हैं और इनमें से हर उम्मीदवार अगर 50 वोट जीतता है तो कोई भी पार्टी तमिलनाडु में चुनाव नहीं लड़ पाएगी. वे लोगों से डरेंगे. मैं इस बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए ही चुनाव लड़ रहा हूं.'

इसे भी पढ़ें :- तमिलनाडु चुनाव: सत्ता के लिटमस टेस्ट में पलानीस्वामी पास होंगे या फेल?

जब उनसे उनके चुनावी घोषणा पत्र में अव्यावहारिक वादों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'पिछले 50 सालों में राजनीतिक दलों ने कल्याणकारी योजनाओं की घोषणा करके चुनाव जीते हैं. उनकी सरकारों ने कभी भी आम लोगों की सेवा नहीं की. लोगों में जागरूकता लाने के लिए मैंने एक ऐसा चुनावी घोषणा पत्र जारी किया है जो पूरी तरह अव्यावहारिक है और दुनिया के किसी भी आदमी ने ऐसा नहीं किया है.' दिलचस्प बात यह है कि सर्वनन का चुनाव चिह्न कूड़ापात्र है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज