अपना शहर चुनें

States

Farmers Protest: राकेत टिकैत का आरोप- गाजीपुर बॉर्डर पर आधी रात काटी गई बिजली, भारी संख्‍या में पुलिस फोर्स तैनात

गृह मंत्रालय ने दिल्ली में कानून-व्यवस्था कायम करने और आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं.
गृह मंत्रालय ने दिल्ली में कानून-व्यवस्था कायम करने और आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं.

गृह मंत्रालय (Home Ministry) की ओर से जिस तरह से सख्‍त कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं उसके बाद से ऐसा लग रहा था कि रात में गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) पर पुलिस कोई बड़ी कार्रवाई कर सकती है हालांकि ऐसी किसी भी कार्रवाई से अभी तक इनकार किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 28, 2021, 4:53 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर निकाली गई किसान ट्रैक्टर रैली (Kisan Tractor Rally) के दौरान मचे बवाल और हिंसा के बाद बुधवार देर रात गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) पर अचानक तनाव की स्थित बन गई दी गई है. भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत का आरोप है कि पुलिस ने रात को बॉर्डर पर धरना-प्रदर्शन वाली जगह की बिजली काट दी है. गृह मंत्रालय (Home Ministry) की ओर से जिस तरह से सख्‍त कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं उसके बाद से ऐसा लग रहा था कि रात में गाजीपुर बॉर्डर पर पुलिस कोई बड़ी कार्रवाई कर सकती है हालांकि ऐसी किसी भी कार्रवाई से अभी तक इनकार किया गया है.

दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर गृह मंत्रालय में लगातार बैठकों का दौर जारी रहा. गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर और आला अधिकारियों को निर्देश दिए कि दिल्ली में हर हाल में कानून-व्यवस्था कायम हो और आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई हो. गृह मंत्रालय के आदेश के बाद गाजीपुर बॉर्डर पर देर रात बड़ी तादाद में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है. बताया जाता है कि आधी रात मौके पर गाजियाबाद के बड़े पुलिस और प्रशासनिक अफसर भी वहां पहुंचे थे. हालांकि बॉर्डर पर सुरक्षा व्‍यवस्‍था का जायजा लेने के बाद वे अब वहां से लौट चुके हैं, लेकिन भारी पुलिस बल की तैनाती जारी है.

बता दें कि गणतंत्र दिवस पर निकाली गई किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान मचे बवाल और हिंसा के बाद किसान आंदोलन में फूट पड़ गई है. राष्‍ट्रीय किसान मजदूर संगठन के नेता वीएम सिंह ने भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत पर गंभीर आरोप लगाते हुए खुद और अपने संगठन को इस आंदोलन से अलग करने का फैसला लिया है. उन्‍होंने कहा कि हम अपना आंदोलन यहीं खत्‍म करते हैं. हमारा संगठन इस आंदोलन से अलग है.इसे भी पढ़ें :- गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को दिए आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देशहिंसा फैलाने वाले दीप सिद्धू और लक्का के खिलाफ भी FIR
दिल्ली पुलिस ने बुधवार को आरोप लगाया कि मंगलवार को ट्रैक्टर परेड के दौरान किसान नेताओं ने भड़काऊ भाषण दिए और हिंसा में भी शामिल रहे. इसके साथ ही पुलिस ने जोर दिया कि किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा. दिल्ली हिंसा और लाल किला पर धार्मिक झंडा फहराने के मामले में घिरे पंजाबी कलाकार दीप सिद्धू और लक्का सदाना पर भी शिकंजा कसता दिख रहा है. दिल्ली पुलिस का दावा है कि हिंसा में इन दोनों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की गई है. पहले जिन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी, उनमें इन दोनों का नाम नहीं था. जब पुलिस पर इस मामले में सवाल उठे तो उन्होंने दावा किया कि इन दोनों के नाम भी एफआईआर दर्ज हुई है.



इसे भी पढ़ें :- दो यूनियनों ने खुद को किया आंदोलन से अलग, संयुक्‍त मोर्चा ने कहा- हमने उन्हें पहले ही निकाल दिया था

पर्यटकों के लिए 31 जनवरी तक बंद रहेगा लाल किला
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के एक आदेश के मुताबिक लाल किला 27 जनवरी से 31 जनवरी तक आगंतुकों के लिए बंद रहेगा. हालांकि आदेश में इसके पीछे के कारण का उल्लेख नहीं है, लेकिन इसमें छह जनवरी और 18 जनवरी के पुराने आदेशों का उल्लेख किया गया है जिसके तहत प्रतिष्ठित स्मारक को बर्ड फ्लू अलर्ट के कारण 19 जनवरी से 22 जनवरी तक बंद कर दिया गया था. सूत्रों ने बताया कि 26 जनवरी को लाल किला परिसर में भड़की हिंसा के बाद एएसआई ने नुकसान का जायजा लेने के लिए गेट बंद रखने का फैसला लिया है. इससे पहले बुधवार को संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल ने घटना स्थल का दौरा कर एएसआई से घटना की रिपोर्ट मांगी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज