पश्चिम बंगाल में बिजली के तार की चपेट में आने से हाथी के बच्‍चे की मौत, गांव में घुसा था झुंड

हाथी के बच्‍चे की मौत. (प्रतीकात्‍मक फोटो)
हाथी के बच्‍चे की मौत. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में हुई इस घटना की जानकारी देते हुए वन अधिकारियों ने कहा कि हाथी (Elephant) के बच्‍चे की मौत के बाद गांव वालों ने उनके झुंड को वापस जंगल की ओर खदेड़ दिया.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. पश्चिम बंगाल (West Bengal) के एक गांव में हाथी (Elephant) के एक बच्‍चे की मौत हो गई. वन अधिकारियों ने जानकारी दी कि पश्चिम बंगाल के अलीपुरद्वार जिले के जलदापारा नेशनल पार्क (Jaldapara National Park) से सटे एक गांव में हाथियों के झुंड ने हमला किया था. पुरबा मदारीहाट गांव में बुधवार सुबह हुई इस घटना में एक पेड़ बिजली के तार पर गिर गया. बिजली का तार हाथी के बच्‍चे पर गिरा. उसकी चपेट में आने से हाथी के बच्‍चे की तुरंत मौत हो गई.

पश्चिम बंगाल में हुई इस घटना की जानकारी देते हुए वन अधिकारियों ने कहा कि हाथी के बच्‍चे की मौत के बाद गांव वालों ने उनके झुंड को वापस जंगल की ओर खदेड़ दिया. हालांकि इस घटना में और हाथियों व लोगों की मौत होने से बच गई. बता दें इसके पहले एक घटना में पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी के पास सलुगड़ा में एक कुंए से हाथी के बच्चे और उसकी मां को बचाया गया था. वन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि हाथी का करीब तीन महीने का बच्चा और उसकी मां बेकार पड़े कुएं में रविवार देर रात गिर गए थे, जो बंगाल सफारी के पास स्थित सेना के शिविर के नजदीक है.

यह भी पढ़ें:- खास हैं Apple iOS 14 के 5 छुपे हुए ये फीचर,बदल जाएगा iPhone यूज़ करने का अंदाज



अधिकारी ने बताया था कि उन्हें सुखमा, मल और गोरुमारा के वन कर्मियों ने घंटों की मशक्कत के बाद रविवार-सोमवार की दरमियानी रात करीब तीन बजे कुंए में से सुरक्षित निकाल लिया. पशु शायद अपने झुंड से बिछड़ गए होंगे और अंधेरे की वजह से कुंए में गिर गए होंगे. हथिनी मौके से चली गई और वापस नहीं आई जबकि उसके बच्चे को गोरुमारा अभयारण्य वन लाया गया था. (इनपुट भाषा से भी)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज