Home /News /nation /

जब सोचने भर से चलेगा मोबाइल और कंप्‍यूटर, एलन मस्‍क का दावा- साल 2022 में इंसानों में लगाएंगे चिप

जब सोचने भर से चलेगा मोबाइल और कंप्‍यूटर, एलन मस्‍क का दावा- साल 2022 में इंसानों में लगाएंगे चिप

एलन मस्‍क ने बताया कि 9 अप्रैल, 2021 को, न्यूरालिंक ने एक बंदर में अपना ब्रेन चिप लगाया था. (File pic)

एलन मस्‍क ने बताया कि 9 अप्रैल, 2021 को, न्यूरालिंक ने एक बंदर में अपना ब्रेन चिप लगाया था. (File pic)

Elon Musk News: एलन मस्‍क (Elon Musk) ने दावा किया है कि उनकी कंपनी न्‍यूरालिंक (Neuralink) एक साल से भी कम समय में इस चिप को इंसान के दिमाग (Brain) में लगाने के लिए तैयार है. बता दें कि न्यूरालिंक ने एक ऐसा न्यूरल इंप्लांट विकसित किया है जो बिना किसी बाहरी हार्डवेयर के दिमाग के अंदर चल रही गतिविधि को वायरलेस से प्रसारित कर सकता है. एलन मस्‍क ने बताया कि 9 अप्रैल, 2021 को, न्यूरालिंक ने एक बंदर में अपना ब्रेन चिप लगाया था, जिसके कारण बंदर अपने दिमाग का इस्‍तेमाल कर पोंग खेल आराम से खेल सका.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. सोचिए अगर आपको सुबह 4 बजे उठकर फ्लाइट पकड़नी है. आप अलार्म लगाना ही भूल गए लेकिन ठीक 4 बजे आपके मोबाइल (Mobile) का अलार्म अपने आप बजने लगे और आप जग जाएं. या फिर आपको कोई मेल (Mail) बॉस को भेजना है, लेकिन अब आप ड्राइव कर रहे हैं. आपके ड्राइव करने के बावजूद मेल समय पर आपके बॉस तक पहुंच जाता है. आप सोच रहे होंगे क‍ि ये कैसे संभव है. जो भी बात आपके दिमाग (Brain) में आ रही है, वो सब अपने आप होती जा रही है. हम आपसे कोई काल्‍पनिक बात नहीं कर रहे हैं, बल्कि अगले कुछ सालों में होने वाले बदलाव की झलकियां दिखा रहे हैं.

    दरअसल हम जिस नई तकनीक के बारे में आपको बात रहे हैं उसमें आपका दिमाग और उसमें लगी एक चिप एक दूसरे के साथ सीधे कनेक्ट होकर बिना कोई कंमाड लिए सोचने भर से काम करना शुरू कर देंगे. एलन मस्‍क ने दावा किया है कि उनकी कंपनी न्‍यूरालिंक एक साल से भी कम समय में इस चिप को इंसान के दिमाग में लगाने के लिए तैयार है. बता दें कि न्यूरालिंक ने एक ऐसा न्यूरल इंप्लांट विकसित किया है, जो बिना किसी बाहरी हार्डवेयर के दिमाग के अंदर चल रही गतिविधि को वायरलेस से प्रसारित कर सकता है.

    सोमवार को वॉल स्ट्रीट जर्नल के सीईओ काउंसिल समिट के साथ एक लाइव-स्ट्रीम साक्षात्कार के दौरान एलन मस्‍क से साल 2022 में कंपनी की योजनाओं के बारे में बात की गई. इस दौरान एलन मस्‍क ने बताया कि उनकी कंपनी एक साल से भी कम समय में मानव मस्तिष्‍क में चिप लगाने के लिए तैयार होगी. मस्क ने कहा, न्यूरालिंक बंदरों में अच्छी तरह से काम कर रहा है और हम इससे जुड़े बहुत सारे परीक्षण कर रहे हैं. बंदरों पर हो रहे परीक्षण को देखने के बाद हम इस बात को जोर देकर कह सकते हैं कि यह बहुत ही सुरक्षित और भरोसेमंद है.

    इसे भी पढ़ें :- एलन मस्क ने बेचे 9 अरब डॉलर के Tesla के शेयर, ट्विटर पोल के बाद किया यह फैसला

    उन्‍होंने बताया कि न्यूरालिंक डिवाइस को सुरक्षित रूप से हटाया जा सकता है. उन्‍होंने कहा कि हमारी ये तकनीक उन लोगों के लिए वरदात साबित होगी, जो टेट्राप्लाजिक, क्वाड्रीप्लेजिक जैसी रीढ़ की हड्डी की परेशानी से जूझ रहे हैं और लंबे समय से बिस्‍तर पर हैं. मस्‍क ने कहा कि हमें उम्‍मीद है क‍ि हमें अगले साल एफडीए से इसके लिए मंजूरी भी मिल जाएगी. मुझे लगता है कि हमारे पास किसी ऐसे व्‍यक्ति को ताकत देने का मौका है, जो चल नहीं सकता है या फिर अपने हाथों से काम नहीं कर सकता है.

    इसे भी पढ़ें :- Tesla में नौकरी करने का सुनहरा मौका, जानिए कैसे लोगों की है तलाश

    एलन मस्‍क ने बताया कि 9 अप्रैल, 2021 को, न्यूरालिंक ने एक बंदर में अपना ब्रेन चिप लगाया था, जिसके कारण बंदर अपने दिमाग का इस्‍तेमाल कर पोंग खेल आराम से खेल सका. बंदर के दिमाग में डिवाइस ने खेल खेलते समय न्यूरॉन्स फायरिंग के बारे में जानकारी दी, जिससे वह सीख पाया कि खेल के दौरान कैसे चाल चलनी है.

    मस्क ने सोमवार के लाइवस्ट्रीम के दौरान कहा कि चिप लगाए जाने के बावजूद बंदर सामान्य लग रहा था और टेलीपैथिक रूप से एक वीडियो गेम खेल रहा है, जो मुझे लगता है कि काफी अच्‍छा है. न्यूरालिंक छोटे लचीले धागों से जुड़ी एक कंप्यूटर चिप होती है, जिसे सिलाई-मशीन-जैसे रोबोट से मस्तिष्क में सिला जाता है. ये डिवाइस मस्तिष्क में संकेतों को उठाता है, जिसके बाद दिमाग उसी तरह से काम करने लगता है.

    Tags: Brain, Brain power, Elon Musk, Mobile

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर