• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • ELURU MYSTERY ILLNESS NOT SHOWING SIGNS OF CONTAGIOUSNESS CENTRE FORMS TEAM TO INVESTIGATE AS 340 FALL SICK KNOWAT

संक्रामक नहीं लग रही आंध्र की रहस्यमयी बीमारी, केंद्र भेजेगा विशेषज्ञों की टीम

आंध्र प्रदेश में इस बीमारी से अब तक 340 लोग बीमार पड़ चुके हैं. (PTI फोटो)

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने तीन सदस्यीय विशेषज्ञों की टीम गठित की है. ये टीम बीमारी के कारणों की जांच करेगी. इस टीम में डॉ. जमशेद नायर (Dr. Jamshed Nayar, एम्स दिल्ली), डॉ. अविनाश देवश्टवर (Dr. Avinash Deoshtawar, एनआईवी पुणे), डॉ. साकेत कुलकर्णी (Dr. Sanket Kulkarni, डिप्टी डायरेक्टर पीएच, एनसीडीसी) शामिल हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के एलुरु (Eluru) शहर में एक रहस्यमयी बीमारी (Mystry Disease) पैर पसार रही है. दो दिनों के भीतर मरीजों की संख्या 340 तक पहुंच गई है. मरीजों के आंकड़े बढ़ने के पीछे का कारण डॉक्टर भी नहीं बता पा रहे हैं. हालांकि इस बीमारी में अब तक संक्रामक लक्षण नहीं दिखाई दे रहे हैं. केंद्र सरकार ने घोषणा की है कि वह मंगलवार को शहर में विशेषज्ञों की टीम भेजेगी.

    157 लोगों का चल रहा इलाज
    जिले के डीएम रेवू मुथयाला राजू के मुताबिक अब तक इस बीमारी की वजह से एक व्यक्ति ने जान गंवाई है. इस वक्त 157 लोग इलाज करा रहे हैं जबकि 168 लोग डिस्चार्ज हो चुके हैं. कई लोग इस बीमारी को प्रदूषित पानी से जोड़कर भी देख रहे हैं. माना जा रहा है कि प्रदूषित पानी की वजह से लोगों को यह बीमारी हो रही है.

    गौरतलब है कि एक दिन पहले अस्पताल का दौरा करने पहुंचे उप मुख्यमंत्री (स्वास्थ्य) एकेके श्रीनिवास ने यह साफ किया था कि यहां सब कुछ सामान्य है और घबराने की कोई जरूरत नहीं है. श्रीनिवास ने कहा कि ब्लड सैंपल्स इकट्ठे कर उन्हें जांच के लिए भेजा गया है ताकि बीमारी के कारण का पता लगाया जा सके. पश्चिम गोदावरी के संयुक्त जिलाधिकारी हिमांशु शुक्ला ने फोन पर पीटीआई-भाषा को बताया था कि पीड़ितों का सीटी स्कैन भी कराया गया है और सब कुछ सामान्य मिला. उन्होंने कहा कि यह वायरल संक्रमण का मामला हो सकता है.

    टीम के सदस्य हैं ये डॉक्टर
    अब इसे लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने तीन सदस्यीय विशेषज्ञों की टीम गठित की है. ये टीम बीमारी के कारणों की जांच करेगी. इस टीम में डॉ. जमशेद नायर (एम्स दिल्ली), डॉ. अविनाश देवश्टवर (एनआईवी पुणे), डॉ. साकेत कुलकर्णी (डिप्टी डायरेक्टर पीएच, एनसीडीसी) शामिल हैं.
    Published by:Arun Tiwari
    First published: