लाइव टीवी

भारतीय क्रिकेट से इस तरह हुआ 'ललित मोदी युग' का अंत

Bhawani Singh | News18India
Updated: June 25, 2017, 1:23 PM IST
भारतीय क्रिकेट से इस तरह हुआ 'ललित मोदी युग' का अंत
File Photo- Getty Images

बीसीसीआई ने ललित मोदी को हिंदुस्तान की क्रिकेट से पूरी तरह बाहर कर दिया है.

  • Share this:
बीसीसीआई ने ललित मोदी को हिंदुस्तान की क्रिकेट से पूरी तरह बाहर कर दिया है. बीसीसीआई के दबाब के बाद राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन ने ललित मोदी की क्रिकेट की जड़ में वार किया. ललित मोदी की अगुवाई वाले नागौर जिला क्रिकेट को निलंबित कर दिया है.

इतना नहीं मोदी समेत नागौर जिला क्रिकेट की पूरी टीम को भी सस्पेंड कर दिया है. ललित मोदी के लिए ये बड़ा झटका है क्योंकि इस जिला संघ की कुर्सी की बदौलत ही वह अप्रत्यक्ष तौर पर आरसीए की सत्ता में बने हुए थे. कई बार आरसीए का चुनाव हारने के बावजूद दबदबा कम नहीं हुआ. इस दबदबे की वजह से बीसीसीआई में ललित मोदी के विरोधी परेशान थे. वह भले ही भारत छोड़कर भाग गए हों लेकिन आरसीए का अध्यक्ष रहते हुए लंदन में बैठकर ही पूरा नियंत्रण रखा. बीसीसीआई ने चुनाव से पहले ही आरसीए को धमकी दी थी कि मोदी को चुनाव लड़ने से. यही नहीं अगर वह अध्यक्ष चुन लिया गया तो आरसीए को निलंबित कर दिया जाएगा.

धमकी के बावजूद मोदी अध्यक्ष बने
बीसीसीआई ने आरसीए को निलंबित कर दिया था. तब से आरसीए को बीसीसीआई न कोई मैच दे रहा है न अनुदान न आईपीएल के मैच. इस बीच बीसीसआई ने लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों को मानने से इंकार किया तो बीसीसीआई से आईना दिखाने के लिए ललित मोदी ने ऐलान किया कि आरसीए लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों का पालन करेगा. इसी बीच आरसीए चुनाव का ऐलान कर दिया गया. मोदी को पक्का यकीन था कि न सिर्फ बहुमत बल्कि राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधराराजे और उनकी सरकार उसके साथ हैं.

बेटे के सहारे की कोशिश
लोढ़ा कमेटी का सिफारिशों के मुताबिक वे खुद फिर आरसीए प्रेसिडेंट का चुनाव नहीं लड़ सकते थे. इसलिए बेटे रुचिर मोदी का आनन फानन में अलवर जिला क्रिकेट संघ से नटकीय तरीके से एंट्री कराई. फिर खुद की जगह बेटे को आरसीए चुनाव के मैदान में उतारा. लंदन में मोदी आगे की स्क्रिप्ट लिख रहे थे. चुनाव जीतने के लिए गोवा में आसीए डेलिगेट्स की पार्टी रखी गई. लेकिन गेम तब पलटा जब कांग्रेस के हैविवेट पूर्व कैबिनेट मंत्री सीपी जोशी रुचिर के सामने मैदान में उतर गए. सरकार मोदी की उम्मीदों पर खरी नहीं उतरी..सीपी जोशी चुनाव जीत गए. अब बीसीसीआई ने सीपी जोशी से कहा कि यदि आरसीए से प्रतिबंध हटाना है तो मोदी को नागौर जिला क्रिकेट संघ से भी बाहर करो. यानी क्रिकेट से पूरी तरह बाहर. सीपी जोशी को सही बहाना मिल गया और नागौर जिला क्रिकेट को निलंबित कर दिया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 25, 2017, 1:23 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर