अपना शहर चुनें

States

Israel Embassy Blast: एनर्जी ड्रिंक के कैन से बनाया बम! इजारायली दूतावास के पास मिले सबूत से गहराई साजिश

जांच एजेंसियां ब्‍लास्‍ट की जांच में जुटी हैं. (File Pic)
जांच एजेंसियां ब्‍लास्‍ट की जांच में जुटी हैं. (File Pic)

Israel Embassy Blast: सूत्रों ने न्‍यूज18 को बताया है कि हो सकता है कि एनर्जी ड्रिंक के कैन को सर्किट बोर्ड डिवाइस छिपाने के लिए इस्‍तेमाल किया गया हो.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 31, 2021, 10:12 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पिछले दिनों दिल्‍ली में इजरायली दूतावास (Israel Embassy Blast) के पास हुए विस्‍फोट के बाद देश भर में अहम ठिकानों की सुरक्षा बढ़ाई जा रही है. वहीं इस ब्‍लास्‍ट की जांच की रही नेशनल सेक्‍योरिटी गार्ड (NSG) के नेशनल बॉम्‍ब डाटा सेंटर की टीम ने आशंका जाई है कि हो सकता है इस ब्‍लास्‍ट में एनर्जी ड्रिंक कैन (Energy Drink Can) का इस्‍तेमाल किया गया हो. ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्‍योंकि ब्‍लास्‍ट की जगह के पास ही क्षतविक्षत हालत में एक एजर्नी ड्रिंक का कैन भी पाया गया है.

सूत्रों ने न्‍यूज18 को बताया है कि हो सकता है कि एनर्जी ड्रिंक के कैन को सर्किट बोर्ड डिवाइस छिपाने के लिए इस्‍तेमाल किया गया हो. यह भी संभावना है कि इसे टाइमर से जोड़ा गया हो. ब्‍लास्‍ट की जगह पर सर्किट बोर्ड भी पाया गया है. सूत्रों ने यह भी जानकारी दी है कि बम की डिवाइस में एल्‍यूमीनियम के साथ ही पेंटएरीथ्राइटोल टेट्रानाइट्रेट (PETN) भी पाया गया है. इसकी पुष्टि लैब ने की है. एक सूत्र का कहना है कि यह एक विरोधाभासी है क्‍योंकि एक तेज विस्‍फोटक है और दूसरा निम्‍न विस्‍फोटक है. हालांकि अंतिम रिपोर्ट रविवार को आएगी.

एनएसजी की टीम ने ब्‍लास्‍ट स्‍थल का दौरा किया है. इसकी रिपोर्ट ब्‍लास्‍ट की जांच कर रही दिल्‍ली पुलिस की टीम के साथ भी साझा की जाएगी. सूत्र ने कहा कि टीम ने कई सीसीटीवी फुटेज प्राप्‍त करने में सफलता पाई है. लेकिन अभी तक हम किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंचे हैं. क्‍योंकि एंबेसी के आसपास अधिकांश सीसीटीवी खराब थे.



energy-drink
ब्‍लास्‍ट की जगह के पास बरामद एनर्जी ड्रिंक का कैन. (Pic- News18)

सूत्रों का यह भी कहना है कि ब्‍लास्‍ट से कई घंटों पहले और बाद में एंबेसी व उसके आसपास सक्रिय मोबाइल नंबरों और उनकी कॉल का डाटा भी जुटाया जा रहा है. इसके साथ ही कैब कंपनियों से उन व्‍यक्तियों के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है, जो उस दिन एंबेसी के आसपास आए या गए थे.

जांच एजेंसियां एंबेसी के आसपास के क्षेत्र का आईपीडीआर डाटा भी खंगाल रही हैं. जिससे कि यह पता किया जा सके कि इलाके में उस दिन कोई संदिग्‍ध व्‍यक्ति कहीं मोबाइल कॉल की बजाय इंटरनेट कॉलिंग के जरिये किसी के संपर्क में तो नहीं था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज