Assembly Banner 2021

कोयला घोटाला: ED ने TMC नेता के भाई को किया गिरफ्तार, मिली 6 दिन की रिमांड

ईडी की कार्रवाई उस समय हुई है, जब पश्चिम बंगाल में 294 सीटों वाली विधानसभा के लिए आठ चरणीय चुनाव 27 मार्च से शुरू होने वाले हैं.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

ईडी की कार्रवाई उस समय हुई है, जब पश्चिम बंगाल में 294 सीटों वाली विधानसभा के लिए आठ चरणीय चुनाव 27 मार्च से शुरू होने वाले हैं.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

Coal and Cattle Smuggling Scam: पश्चिम बंगाल में 294 सीटों वाली विधानसभा के लिए आठ चरणीय चुनाव 27 मार्च से शुरू होने वाले हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 16, 2021, 6:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल (West Bengal) के कोयला और पशु स्मगलिंग घोटाले में तृणमूल कांग्रेस (TMC) के नेता विनय मिश्रा (Vinay Mishra) के भाई को प्रवर्तन निदेशालय ने मंगलवार को गिरफ्तार किया, जिसे दिल्ली की विशेष अदालत में पेश किया गया. सुनवाई के बाद कोर्ट ने गिरफ्तार आरोपी को 6 दिनों की रिमांड पर भेज दिया है. इससे पहले मंगलवार को ही सीबीआई ने अवैध कोयला खनन मामले में पश्चिम बंगाल में पांच स्थानों पर छापे मारे. इस घोटाले का कथित सरगना अनूप मांझी (Anoop Manjhi) है. अधिकारियों ने बताया कि दुर्गापुर, आसनसोल और बांकुड़ा में मांझी के कथित सहयोगी एवं कारोबारी अमित अग्रवाल के पांच परिसरों पर छापे मारे जा रहे हैं. यह कार्रवाई ऐसे समय में की जा रही है, जब पश्चिम बंगाल में 294 सीटों वाली विधानसभा के लिए आठ चरणीय चुनाव 27 मार्च से शुरू होने वाले हैं.

लाला का करीबी वर्धमान से गिरफ्तार
पश्चिम बंगाल अपराध जांच शाखा (सीआईडी) ने शनिवार को करोड़ों रुपये के कोयला घोटाले के प्रमुख आरोपी अरूप मांझी उर्फ लाला के एक करीबी सहयोगी को पश्चिम वर्धमान जिले के अंदल से गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि मामले की जांच शुरू होने के बाद से राज्य अपराध जांच विभाग द्वारा की गई यह पहली गिरफ्तारी है. गिरफ्तार किया गया व्यक्ति रणधीर सिंह काफी समय से लाला के लिए काम कर रहा था और घोटाले में शामिल है. सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) संयुक्त रूप से मामले की जांच कर रहे हैं, वहीं राज्य सीआईडी ने घोटाले की जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया है. सीबीआई ने लाला के लिए लुक आउट नोटिस भी जारी किया है. इसके अलावा पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार और उत्तर प्रदेश में कई स्थानों पर छापे भी मारे गए थे.

बीजेपी का आक्रामक अभियान
भाजपा इस चुनाव में तृणमूल कांग्रेस को सत्ता से बाहर करने के लिए जोरदार मुहिम चला रही है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व में तृणमूल ने 2011 और 2016 विधानसभा चुनावों में राज्य में जीत हासिल की थी. सीबीआई ने तृणमूल कांग्रेस के सांसद एवं ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजिरा एवं उनकी पत्नी की बहन मेनका गंभीर से भी मामले में हाल में पूछताछ की थी. करोड़ों रुपये की कोयला चोरी का घोटाला राज्य के कुनुस्तोरिया और कजोरा इलाकों में ईसीएल खदानों से संबंधित है.



सीबीआई ने कोयला चोरी के गिरोह के कथित सरगना अनूप मांझी उर्फ लाला, ईसीएल के महाप्रबंधक अमित कुमार धर और जयेश चंद्र राय, ईसीएल के सुरक्षा प्रमुख तन्मय दास, कुनुस्तोरिया इलाके के सुरक्षा निरीक्षक धनंजय राय और कजोरा इलाके के सुरक्षा प्रभारी देबाशीष मुखर्जी के खिलाफ पिछले साल नवंबर में प्राथमिकी दर्ज की थी.

ममता बनर्जी के नेतृत्व में तृणमूल कांग्रेस 2011 विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज कर सत्ता में आई थी और 2016 में भी उसने जीत का सिलसिला जारी रखा था. अभिषेक बनर्जी तृणमूल कांग्रेस के डायमंड हार्बर से सांसद एवं मुख्यमंत्री बनर्जी के भतीजे हैं और उनका पार्टी में काफी प्रभाव है. वह विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस की ओर से प्रचार कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज