इंजीनियरिंग के छात्र ने बनाया एक खास 'ब्रेसलेट', सोशल डिस्टेंसिंग टूटने पर देगा करंट का झटका

मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस रेलवे स्टेशन की तस्वीर. शहर इस वक्त कोरोना से बुरी तरह प्रभावित है. (फाइल फोटो-AP)

मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस रेलवे स्टेशन की तस्वीर. शहर इस वक्त कोरोना से बुरी तरह प्रभावित है. (फाइल फोटो-AP)

India Coronavirus News: देश में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में रिकॉर्ड 3,60,960 नये मामले सामने आए हैं जिसके बाद संक्रमण के कुल मामले 1,79,9,267 हो गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 28, 2021, 10:16 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना वायरस से बचने के लिए तमाम तरह के प्रोटोकॉल सरकार द्वारा जारी किए गए हैं, लेकिन इसके बावजूद बाजार जैसी सार्वजनिक जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियमों को लागू कर पाना बेहद मुश्किल हो जाता है या यूं कहें कि ऐसा संभव ही नहीं हो पाता. इसका नतीजा यह होता है कि किसी एक संक्रमित व्यक्ति के वहां मौजूद होने से कोरोना के नए मामलों में संख्या में तेजी से इजाफा होने लगता है और इससे बचने के लिए सरकार को लॉकडाउन और कर्फ्यू का सहारा लेना पड़ता है.



इसी परेशानी को समझते हुए मेरठ में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे एक छात्र ने एक खास तरह का ब्रेसलेट तैयार किया है जो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने में कारगर साबित हो सकता है. आत तक में प्रकाशित खबर के मुताबिक बीटेक के छात्र नीरज उपाध्याय का दावा है कि इस ब्रेसलेट को पहनने से सोशल डिस्टेंसिंग का आसानी से पालन करवाया जा सकता है. दरअसल इस ब्रेसलेट को पहनने वाले दो लोग जब भी करीब आने की कोशिश करेंगे, तो उन्हें करंट का हल्का झटका लगेगा और उन्हें समझ आ जाएगा आपस में दो गज की दूरी बनाए रखना जरूरी है.



Youtube Video


हालांकि यह ब्रेसलेट तभी काम करेगा जब अधिक संख्या में लोग इसका इस्तेमाल करेंगे क्योंकि यह उसी स्थिति में काम करता है, जबकि लोग इसे अपने हाथों में पहनकर रखें. नीरज उपाध्याय ने अपने एक दोस्त की मदद से इस ब्रेसलेट का एक डेमो भी पेश किया. इस दौरान ब्रेसलेट पहने दो लोग जैसे ही तीन मीटर से ज्यादा पास आए, उन्हें करंट जैसे झटका लगा. पुनीत अपनी इस खास डिवाइस को पेटेंट कराना चाहते हैं. पुनीत ने बताया कि एक ब्रेसलेट को तैयार करने में उसे 130 रुपए खर्च करने पड़े हैं, लेकिन अगर अधिक संख्या में इसे बनाया जाए, तो इसकी लागत और भी कम हो जाएगी.


दूसरी ओर, देश में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में रिकॉर्ड 3,60,960 नये मामले सामने आए हैं जिसके बाद संक्रमण के कुल मामले 1,79,9,267 हो गए हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के बुधवार सुबह तक के आंकड़ों के मुताबिक 3,293 और लोगों की मौत होने के बाद मृतक संख्या दो लाख को पार कर गई है.



आंकड़ों के मुताबिक 1,48,17,371 लोग संक्रमण से उबर चुके हैं, जबकि बीमारी से मृत्यु दर 1.12 प्रतिशत है. मंत्रालय ने बताया कि 29,78,709 लोग अब भी संक्रमण की चपेट में हैं जो संक्रमण के कुल मामलों का 16.55 प्रतिशत है, जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर और घटकर 82.33 प्रतिशत हो गई है. आंकड़ों के मुताबिक मृतक संख्या 2,01,187 है.



(इनपुट भाषा से भी)


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज