Assembly Banner 2021

स्वेज नहर में फंसे जहाज का पूरा क्रू भारतीय, कंपनी ने कहा- सभी 25 सदस्य सुरक्षित

स्वेज नहर में जाम लगने से वैश्विक स्तर पर हजारों करोड़ का बिजनेस प्रभावित हुआ है. news18.com

स्वेज नहर में जाम लगने से वैश्विक स्तर पर हजारों करोड़ का बिजनेस प्रभावित हुआ है. news18.com

Ever Given cargo ship: जहाज फंसने के चलते पूरी दुनिया में मची खलबली को देखते हुए जहाज के जापानी मालिक ने गुरुवार को लिखित में माफी मांगी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 11:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मिस्र की स्वेज नहर में एक विशाल कंटेनर जहाज के फंसने से समुद्र में जाम लग गया है. इस कंटेनर को दुनिया के सबसे विशाल मालवाहक कंटेनर जहाज में से एक माना जाता है. खबरों के मुताबिक इस विशाल कंटेनर जहाज का पूरा क्रू भारतीय है. जहाज के जापानी मालिक शोई किसिन काइशा ने कहा कि ‘एमवी एवर गीवन’ के सभी क्रू सदस्य भारत से हैं. जहाज का प्रबंधन देखने वाली कंपनी बर्नहार्ड शुल्जे शिप मैनेजमेंट ने कहा कि क्रू के सभी 25 सदस्य सुरक्षित और सकुशल हैं. बर्नहार्ड शुल्जे शिप मैनेजमेंट ने अपने बयान में कहा, "जहाज को गाइड करने के लिए मिस्र की कैनाल अथॉरिटी के दो पायलट भी सवार थे, जब जहाज स्वेज नहर में मंगलवार की सुबह 7.45 बजे फंस गया."

अथॉरिटी ने कहा कि महत्वपूर्ण रास्ते में जहाज के फंसने की वजह से कम से कम 150 अन्य जहाज भी फंस गए हैं. बता दें कि ‘एमवी एवर गीवन’ पनामा-ध्वजयुक्त कंटेनर जहाज जो एशिया और यूरोप के बीच चलता है, मंगलवार को एक संकीर्ण मानव निर्मित जलमार्ग में फंस गया, जो महाद्वीपीय अफ्रीका को सिनाई प्रायद्वीप से विभाजित करता है. जहाज के इस तरह फंसने का कारण अभी पता नहीं चल पाया है. ‘एवरग्रीन मरीन कोर’ ने हालांकि एक बयान में बताया कि तेज हवाओं के कारण ऐसा हुआ, लेकिन उसका एक भी कंटेनर डूबा नहीं है.

अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि कोरोना वायरस के कारण पहले से प्रभावित वैश्विक नौवहन प्रणाली के लिए यह एक और बड़ी परेशानी खड़ी हो गई है. जहाज को बाहर निकालने के प्रयास तेज हो गए हैं. प्रशासनिक अधिकारियों ने खुदाई भी शुरू कर दी है. हालांकि अभी भी कंटेनर जहाज को किनारे लगाने की कोशिश सफल नहीं हो पाई हैं. स्वेज नहर में जाम लगने से वैश्विक स्तर पर हजारों करोड़ का बिजनेस प्रभावित हुआ है.

जहाज फंसने के चलते पूरी दुनिया में मची खलबली को देखते हुए जहाज के जापानी मालिक ने गुरुवार को लिखित में माफी मांगी है. शोई किसिन काइशा ने अपने पत्र में कहा, "घटना के चलते प्रभावित सभी पक्षों से हम माफी मांगते हैं. चाहे वह स्वेज नहर से होकर यात्रा कर रहे हो या फिर यात्रा की तैयारी में हों."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज