लाइव टीवी

NPR की प्रक्रिया को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती, SC ने केंद्र सरकार से मांगा जवाब

News18Hindi
Updated: January 27, 2020, 12:22 PM IST
NPR की प्रक्रिया को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती, SC ने केंद्र सरकार से मांगा जवाब
सुप्रीम कोर्ट

नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (NPR) में प्रत्येक नागरिकों को जानकारी रखी जाएगी. ये नागरिकता अधिनियम 1955 के प्रावधानों के तहत स्थानीय, उप-जिला, जिला, राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर तैयार किया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2020, 12:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (NPR) की पूरी प्रक्रिया को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है. कोर्ट ने इस मामले में केंद्र सरकार से जवाब मांगा है. कोर्ट ने कहा है कि अब इसकी सुनवाई नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के साथ होगी. पिछले साल दिसंबर में नरेंद्र मोदी सरकार की कैबिनेट ने NPR को मंजूरी दी थी. इसमें घर-घर जाकर एक रजिस्टर तैयार किया जाएगा और दर्ज किया जाएगा कि कहां कौन रह रहा है.

एक साथ होगी सुनवाई
पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट में CAA को भी चुनौती दी गई थी. इस मामले में अगली सुनवाई अब फरवरी में होगी. अब कोर्ट इसी दिन NPR पर भी सुनवाई करेगी. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में CAA के खिलाफ 143 याचिकाएं दर्ज हैं. पिछले सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट में सरकार ने कहा था कि उसने अब तक 60 याचिकाओं के लिए जवाब तैयार किए है. सरकार की दलील थी कि सीएए की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली उन याचिकाओं पर जवाब देने के लिए सरकार को समय चाहिए जो उसे अभी नहीं मिल पाई हैं.ऐसे में कोर्ट ने केंद्र सरकार सारी याचिकाओं पर जवाब देने के लिए चार हफ्ते का समय दिया है. पांचवे हफ्ते में इस मामले की सुनवाई होगी.

सिब्बल ने भी उठाया था मुद्दा

पिछली सुनवाई में वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट से सीएए के क्रियान्वयन पर रोक लगाने और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) की कवायद फिलहाल टाल देने का अनुरोध किया था. न्यायालय ने कहा कि वो इस मामले पर केंद्र को सुने बगैर इस पर कोई रोक नहीं लगाएगा.

क्या है एनपीआर?
एनपीआर का फुल फॉर्म नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर है. जनसंख्या रजिस्टर का मतलब ये है इसमें किसी गांव या ग्रामीण इलाके या कस्बे या वार्ड या किसी वार्ड या शहरी क्षेत्र के सीमांकित इलाके में रहने वाले लोगों का विवरण शामिल होगा.' वैसे देश में काफी भ्रम है कि पॉपुलेशन रजिस्टर (PR), नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (NPR), नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजंस (NRC) और नेशनल रजिस्टर ऑफ इंडियन सिटीजंस (NRIC) किस तरह संबंधित हैं, लेकिन एनपीआर और एनआरसी पूरी तरह अलग हैं. इसे जनगणना से भी जोड़कर देखा जा सकता है.क्या है NPR का उद्देश्य
>>सरकारी योजनाओं के अन्तर्गत दिया जाने वाला लाभ सही व्यक्ति तक पहुंचे और व्यक्ति की पहचान की जा सके.
>>नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (एनपीआर) द्वारा देश की सुरक्षा में सुधार किया जा सके और आतंकवादी गतिविधियों को रोकने में सहायता प्राप्त हो सके.

ये भी पढ़ें:

इस देश में इंसानों की जिंदगी बचा रहे हैं चूहे, दुनियाभर में हो रही तारीफ

बाघ ने दौड़ाया और पूरी तरह चंगुल में दबोच लिया, फिर ऐसे बची शख्स की जान- Video

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 12:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर