भारत की सहायता के लिए दुनिया ने बढ़ाया हाथ, यूरोपीय संघ भेजेगा ऑक्सीजन और दवा

यूरोपीय संघ ने कहा कि वह कोविड-19 से लड़ने में भारत की तेजी से मदद के लिए संसाधन जुटा रहा.

यूरोपीय संघ ने कहा कि वह कोविड-19 से लड़ने में भारत की तेजी से मदद के लिए संसाधन जुटा रहा.

European Union Help India Fight Coronavirus: यूरोपीय आयोग का कहना है कि आने वाले दिनों में यूरोपीय संघ के सदस्य देशों द्वारा तत्काल ऑक्सीजन, दवा और मेडिकल उपकरण की आपूर्ति भारत में की जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 6:38 PM IST
  • Share this:






नई दिल्‍ली. कोविड-19 के मामलों में ताजा उछाल से जूझ रहे भारत (Covid-19 Case in India) को तत्काल सहायता के लिए दुनियाभर के देशों ने मदद के रूप में अपना हाथ आगे बढ़ाया है. ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका, सऊदी अरब के बाद यूरोपीय संघ कोविड महामारी के खिलाफ लड़ाई में भारत के साथ आया है.यूरोपीय संघ ने कहा कि वह कोविड-19 से लड़ने में भारत की तेजी (European Union Help India Fight Coronavirus) से मदद के लिए संसाधन जुटा रहा है.
यूरोपीय आयोग का कहना है कि आने वाले दिनों में यूरोपीय संघ के सदस्य देशों द्वारा तत्काल ऑक्सीजन, दवा और मेडिकल उपकरण की आपूर्ति भारत में की जाएगी. यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष उर्सुला वोन डेर लेयेन ने कहा कि ईयू भारत के लोगों के साथ पूरी एकजुटता के साथ खड़ा है.

ऑस्ट्रेलिया में भी कहा करेंगे भारत की मदद

ऑस्‍ट्रेलिया ने कहा है कि वह ऑक्सीजन, वेंटिलेटर और व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) के रूप में अपनी मदद भारत को भेजेगा. ऑस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन समाचार चैनल ने स्वास्थ्य मंत्री ग्रेग हंट के हवाले से कहा कि संघीय सरकार इस बात पर विचार कर रही है कि वह मदद के लिए क्या भेज सकती है.



ये भी पढ़ेंः- फिजी में मिला कोरोना वायरस का भारतीय वेरिएंट, स्वास्थ्य अधिकारियों को 'सुनामी' का डर





संघीय स्वास्थ्य मंत्री हंट ने कहा कि भारत वास्तव में ऑक्सीजन की समस्या से जूझ रहा है. हम राष्ट्रीय चिकित्सा भंडार से मदद कर सकते हैं, लेकिन वे मुख्य रूप से ऑक्सीजन आपूर्ति के संबंध में सहायता मांग रहे हैं. हम इस मामले में विशेष रूप से राज्यों के साथ बात कर रहे हैं. हालांकि ऑस्ट्रेलिया टीके नहीं भेजेगा.














भारत में तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना संक्रमण के मामले

भारत में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर चल रही है जहां पिछले कुछ दिनों से संक्रमण के हर दिन तीन लाख से ज्यादा मामले आ रहे हैं और कई राज्यों में अस्पतालों में ऑक्सीजन और बेड की कमी हो गई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज