CBI के पूर्व चीफ नागेश्‍वर राव ने स्‍वामी अग्निवेश के निधन पर किया ओछा कमेंट, गुस्साए लोग बोले- 'ये पुलिस की वर्दी पर है दाग'

CBI के पूर्व चीफ नागेश्‍वर राव ने स्‍वामी अग्निवेश के निधन पर किया ओछा कमेंट, गुस्साए लोग बोले- 'ये पुलिस की वर्दी पर है दाग'
सीबीआई के पूर्व अंतरिम प्रमुख हैं नागेश्‍वर राव.

लंबे समय से लिवर सिरोसिस से पीड़ित चल रहे सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश (Swami Agnivesh) का 11 सितंबर को दिल्ली के एक अस्पताल में कई अंगों के निष्क्रिय हो जाने के बाद शुक्रवार को निधन हो गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 13, 2020, 7:57 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. सीबीआई के पूर्व अंतरिम चीफ और रिटायर्ड आईपीएस अफसर नागेश्‍वर राव (Nageswara Rao) अपने एक ट्वीट को लेकर घिर गए हैं. उन्‍होंने सामाजिक कार्यकर्ता स्‍वामी अग्निवेश (Swami agnivesh) के निधन को लेकर एक ट्वीट किया है. इसमें उन्‍होंने स्‍वामी अग्निवेश को 'हिंदू विरोधी' करार दिया है. नागेश्‍वर राव ने अपने ट्वीट में लिखा, 'स्‍वामी अग्निवेश को अच्‍छी मुक्ति मिली. आप भगवा पहने हुए एक हिंदू विरोधी थे. आपने हिंदुत्‍व को बड़ा नुकसान पहुंचाया है. मुझे शर्मिंदगी महसूस हो रही है कि आपने तमिल ब्राह्मण के घर जन्‍म लिया. गोमुख व्‍याग्रं. भेड़ के लिबास में शेर. यमराज ने इस काम के लिए इतना इंतजार क्‍यों किया.'

नागेश्‍वर राव के ट्वीट का बड़े स्‍तर पर विरोध हो रहा है. इस विरोध को देखते हुए उन्‍होंने अपना विवादित ट्वीट डिलीट कर दिया है. इंडियन पुलिस एसोसिएशन ने राव के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कहा, 'खुद को एक आईपीएस अफसर की तरह पेश करने वाले एक रिटायर्ड अफसर की ओर से इस तरह का नफरती संदेश ट्वीट किया गया. उन्होंने पुलिस की वर्दी पर दाग लगाया और सरकार को शर्मसार किया. उन्होंने देश की पूरी पुलिस फोर्स को शर्मिंदा किया, खासकर युवा अफसरों को.'

बता दें कि लंबे समय से लिवर सिरोसिस से पीड़ित चल रहे सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश का 11 सितंबर को दिल्ली के एक अस्पताल में कई अंगों के निष्क्रिय हो जाने के बाद शुक्रवार को निधन हो गया था. वह 80 वर्ष के थे. डॉक्टरों ने कहा कि अग्निवेश को इंस्टीट्यूट आफ लिवर एंड बिलेरी साइंसेज (आईएलबीएस) के आईसीयू में भर्ती कराया गया था और मंगलवार से वह जीवनरक्षक प्रणाली पर थे.



नागेश्‍वर राव ने किया था ये ट्वीट.
नागेश्‍वर राव ने किया था ये ट्वीट.

राजनीतिक नेताओं, मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और आम लोगों ने शनिवार को सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश को श्रद्धांजलि दी और उन्हें बंधुआ मजदूरों तथा महिला अधिकारों के लिए लड़ने वाले एक सच्चे धर्मनिरपेक्ष शख्स के रूप में याद किया. मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी पोलित ब्यूरो की सदस्य वृंदा करात ने कहा, 'वह धर्मनिरपेक्षता के मामले में कोई समझौता नहीं करने वाले सेनानी थे. मैं उनके सभी मित्रों और प्रशंसकों के साथ उन्हें श्रद्धांजलि देती हूं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज