जंतर मंतर: पूर्व सैनिक ने की खुदकुशी, केजरीवाल ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

वन रैंक वन पेंशन के लिए आंदोलन कर रहे पूर्व सैनिकों में से एक ने अपनी जीवन लीला खत्म कर ली है. आत्महत्या करने से पहले उसने सुसाइड नोट भी लिखा.

  • Pradesh18
  • Last Updated: November 3, 2016, 11:49 AM IST
  • Share this:
वन रैंक वन पेंशन  के लिए आंदोलन कर रहे पूर्व सैनिकों में से एक ने अपनी जीवन लीला खत्म कर ली है. आत्महत्या करने से पहले उसने सुसाइड नोट भी लिखा.



दिल्ली के जंतर मंतर पर धरने के दौरान पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल ने जहर खाकर खुदकुशी कर ली. सुसाइड नोट में ग्रेवाल ने लिखा कि वह सैनिकों के लिए एक बड़ा कदम उठा रहे हैं. वीर जवानों के लिए अपनी जान दे रहा हूं.



जानकारी के मुताबिक रक्षा मंत्री से मिलने जाते वक्त राम किशन ने जहर खा लिया, जिसके बाद उन्हें दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनकी मौत हो गई. वह हरियाणा के भिवानी के रहने वाले थे.





राम किशन के बेटे ने बताया कि उन्होंने आत्महत्या करने से पहले बताया कि सरकार वन रैंक वन पेंशन को लेकर उनकी मांगें पूरी नहीं कर रही है, इसलिए वह आत्महत्या करने जा रहे हैं. पापा ने बताया था कि वह खुदकुशी करने जा रहे हैं.
रामकिशन के आत्महत्या करने के बाद राजनीति भी तेज हो गई है. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा इसका मतलब प्रधानमंत्री जी झूठ बोल रहे हैं कि की ओआरओपी लागू कर दिया. वन रैंक वन पेंशन लागू हो जाता तो राम किशन जी को आत्महत्या क्यों करनी पड़ती?







दूसरे ट्वीट में केजरीवाल ने कहा मोदी राज में किसान और जवान दोनो आत्महत्या कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज