Home /News /nation /

EXCLUSIVE: बच्चों की कोरोना वैक्सीन पर अदार पूनावाला बोले- हम जल्दबाजी नहीं करेंगे

EXCLUSIVE: बच्चों की कोरोना वैक्सीन पर अदार पूनावाला बोले- हम जल्दबाजी नहीं करेंगे

सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया नवंबर और दिसंबर तक COVAX कार्यक्रम के तहत 2 से 3 करोड़ कोरोना वैक्‍सीन की डोज निर्यात कर सकता है. (File Photo)

सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया नवंबर और दिसंबर तक COVAX कार्यक्रम के तहत 2 से 3 करोड़ कोरोना वैक्‍सीन की डोज निर्यात कर सकता है. (File Photo)

पुणे स्थित सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के प्रमुख अदार पूनावाला ने News18.com को बताया कि हम भारत सरकार की ओर से कोरोना रोधी टीकों के निर्यात के संबंध में उचित निर्देश मिलने का इंतजार कर रहे हैं.

    नई दिल्‍ली. पुणे स्थित सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) नवंबर और दिसंबर तक WHO समर्थित COVAX कार्यक्रम के तहत 2 से 3 करोड़ कोरोना वैक्‍सीन की डोज निर्यात कर सकता है. कंपनी के प्रमुख अदार पूनावाला ने News18.com को बताया कि हम भारत सरकार की ओर से टीकों के निर्यात के संबंध में उचित निर्देश मिलने का इंतजार कर रहे हैं. बता दें कि COVAX कार्यक्रम विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO), UNICEF और कोअलिशन फॉर एपिडेमिक प्रिपेयर्डनेस इनोवेशन (CEPI) के साथ Gavi वैक्सीन गठबंधन द्वारा प्रायोजित है. गावी खुद एक संयुक्त राष्ट्र समर्थित संगठन है जो दुनिया भर में टीकाकरण का समन्वय करता है.

    भारत में कोरोना वैक्‍सीन प्रोग्राम की रीढ़ माने जाने वाली कोविशील्‍ड की निर्माता कंपनी सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया ने अपनी उत्‍पादन क्षमता को प्रति माह 22 करोड़ खुराक तक बढ़ा दिया है. SII के सीईओ पूनावाला ने कहा, फिलहाल, हम भारत सरकार द्वारा टीकों के निर्यात के संबंध में उचित निर्देश देने का इंतजार कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा, हमारी उत्पादन क्षमता और वर्तमान मांग को देखते हुए हम कह सकते हैं कि हमें नवंबर और दिसंबर तक 20 से 30 मिलियन (2-3 करोड़) कोविड-19 वैक्सीन की खुराक COVAX को निर्यात करने में सक्षम होना चाहिए और जनवरी तक इसे और बढ़ा देना चाहिए.

    बता दें कि 25 मार्च तक, COVAX को 28 मिलियन (2.8 करोड़) कोविशील्ड खुराक की आपूर्ति की गई थी और मार्च में अतिरिक्त 40 मिलियन (4 करोड़) खुराक और अप्रैल में 50 मिलियन (5 करोड़) खुराक उपलब्ध होने की उम्मीद थी. हालांकि, भारत ने कोविद-19 संक्रमण की दूसरी लहर के बाद घरेलू मांग में वृद्धि को देखते हुए टीकों के निर्यात पर प्रतिबंधित लगा दिया गया था. COVAX कार्यक्रम को अप्रैल 2020 में Gavi, WHO, UNICEF और फ्रांस द्वारा निम्न और मध्यम आय वाले देशों को कोरोना वैक्‍सीन देने के लिए लॉन्‍च किया गया था.

    बच्चों की वैक्सीन लॉन्च करने में जल्दबाजी नहीं
    कंपनी कोविशील्ड के उत्पादन को और भी आगे बढ़ाने का लक्ष्य लेकर चल रही है. उन्होंने कहा, हमारी वर्तमान उत्पादन क्षमता 220 मिलियन (22 करोड़) खुराक है और हमारा लक्ष्‍य एक महीने में अधिकतम उत्पादन 240 मिलियन (24 करोड़) खुराक करना है. बच्चों के लिए SII द्वारा निर्मित एक कोरोना वैक्सीन, फरवरी तक लॉन्च होने की उम्मीद है. हालांकि, पूनावाला का कहना है कि उनकी कंपनी में चल रहे परीक्षणों में किसी भी तरह की कोई जल्‍दबाजी नहीं करेगी. पूनावाला ने कहा, हम फरवरी 2022 तक बच्चों के लिए कोवोवैक्स लॉन्च करने की उम्मीद कर रहे हैं. फिलहाल हम ट्रायल के दौर से गुजर रहे हैं. हम इसके लिए परीक्षणों को तेजी से ट्रैक नहीं करेंगे, खासकर जब ऐसा करने की कोई जरूरत महसूस न हो रही हो.

    100 करोड़ वैक्सीन में 88 करोड़ डोज कोविशील्‍ड की थी
    बता दें कि 21 अक्टूबर को भारत ने 100 करोड़ कोरोना वैक्‍सीन डोज के लक्ष्‍य को पूरा कर लिया है. कोरोना वैक्‍सीन की 100 करोड़ डोज में 88 करोड़ डोज कोविशील्‍ड की थी. इस खास मौके पर पूनावाला ने कहा, हमें खुशी है कि हमने महामारी के खिलाफ लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. उन्‍होंने कहा इसका श्रेय मोटे तौर पर भारत सरकार, अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं और हर स्वास्थ्यकर्मियों को जाता है, जिन्होंने लड़ाई को मजबूत बनाने के लिए अथक प्रयास किया.

    Tags: Adar Poonawalla, Corona, Corona vaccine, Coronavirus, Serum Institute of India, World Health Organization

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर