Exclusive: ED डायरेक्टर संजय कुमार मिश्रा को सरकार से मिल सकता है बड़ा तोहफा

संजय कुमार मिश्र की फाइल फोटो (Firstpost)
संजय कुमार मिश्र की फाइल फोटो (Firstpost)

केंद्रीय वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ सूत्रों के मुताबिक ईडी निदेशक संजय कुमार मिश्रा (Sanjay Kumar Mishra) को सरकार दीपावली से पहले तोहफा दे सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2020, 11:51 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय जांच एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी (Enforcement Directorate) के निदेशक संजय कुमार मिश्रा को दीपावली के पहले केंद्रीय वित्त मंत्रालय से एक बड़ा तोहफा मिल सकता है. केंद्रीय वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ सूत्रों के मुताबिक ईडी निदेशक संजय कुमार मिश्रा (Sanjay Kumar Mishra) को एक साल का अतिरिक्त सेवा विस्तार ईडी में मिल सकता है. वह इसी महीने नवंबर में ईडी से सेवानिवृत्त होने वाले थे. लेकिन अब एक साल का सेवा विस्तार उन्हें प्रदान किए जाने की प्रबल संभावना है.

सूत्रों के मुताबिक दीपावली के पहले ही उनके सेवा विस्तार से संबंधित नोटिफिकेशन जारी हो सकता है. अगर ऐसा होता है तो ये ईडी के इतिहास में पहली बार होगा कि किसी निदेशक को उसकी सेवा अवधि (दो साल) के बाद अतिरिक्त सेवा विस्तार मिला हो. देश की सबसे महत्वपूर्ण जांच एजेंसी होने की वजह से ईडी निदेशक ,सीबीआई निदेशक (CBI Director) का कार्यकाल दो सालों का होता है.

अगर कोई अधिकारी अपने मूल कैडर में सेवानिवृत्त होने वाले होते हैं और इस जांच एजेंसी का निदेशक नियुक्त किया जाता है तो सीधे उनका कार्यकाल दो सालों के लिए तय माना जाता है. लेकिन संजय कुमार मिश्रा के कार्यों की वजह से और ईडी में चल रहे कई महत्वपूर्ण इन्वेस्टिगेशन को ध्यान में रखते हुए उन्हें ये सेवा विस्तार का अवसर दिए जाने की संभावना है.



हालांकि इस मामले पर खबर लिखे जाने तक ईडी मुख्यालय या निदेशक द्वारा कोई भी औपचारिक तौर पर पुष्टि नहीं कि गई है, लेकिन News 18 संवाददाता को वित्त मंत्रालय में कार्यरत एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस खबर की पुष्टि कर दी है.
यंग IRS ऑफिसर से लेकर सचिव स्तर के अधिकारी का सफर
ईडी निदेशक (ED Director) इनकम टैक्स कैडर के 1984 बैच के अधिकारी हैं. यूपी के रहने वाले संजय कुमार मिश्रा जब IRS अधिकारी बने थे, उस वक्त वो अपने बैच में बेहद कम उम्र के अधिकारी थे. जो अपनी काबिलियत के दम पर यूपीएससी (UPSC) की परीक्षा पास करके सेवा में आ गए थे.

उसके बाद इनकम टैक्स में कई बड़े स्तर के मामलों में शानदार तरीके से तफ्तीश करने के बाद उसे अंतिम मुकाम तक पहुंचाया. इसी वजह से 19 नवंबर 2018 को उनकी पोस्टिंग ईडी (ED) में प्रिंसिपल स्पेशल निदेशक पद पर की गई और कुछ दिनों के बाद ही उन्हें ईडी निदेशक नियुक्त किए जाने का औपचारिक तौर पर नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया.

इनकम टैक्स (Income tax) के अधिकारियों में बहुत कम ही ऐसे अधिकारी होते हैं, जो सचिव स्तर के पद पर पहुंचते हैं. संजय कुमार मिश्रा सचिव स्तर के अधिकारी हैं.

ईडी में कई बड़े मामलों की तफ्तीश की हुई तारीफ
आज के वक्त में सीबीआई (CBI) के साथ - साथ ईडी को देश की सबसे बड़ी और महत्वपूर्ण जांच एजेंसी माना जाता है , क्योंकि कई बड़े मामलों में ईडी ने बेहद कम समय में ही तफ्तीश करके आरोपी के खिलाफ सख़्त कार्रवाई की है. जिसके चलते लाखों -करोड़ों रुपये के वित्तीय घोटाले (Financial Corruption) करने वाले आरोपियों के अंदर खौफ जागा.

इसके साथ ही आतंकियों को धन मुहैया कराने वालों (Terrorist funding), हवाला कारोबार और लेनदेन (Hawala transaction) करने वाले आरोपियों ,CAA के मसले पर देश में विरोध प्रदर्शन उसके बाद दिल्ली में दंगे की साजिश मामले में मनी लॉन्ड्रिंग ममाला, यूपी में कई बाहुबली अपराधियों और उसका अवैध संपत्ति मामला, फ़िल्म स्टार सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की संदिग्ध मौत मामले में नशे का काला कारोबार (Drugs trafficking) और उसका बॉलीवुड कनेक्शन मामले में कई महत्वपूर्ण इनपुट्स की तफ्तीश करके दूसरी सहयोगी जांच एजेंसियों की मदद करने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका रही है.

पिछले दो सालों के दौरान कई दर्जनों शेल कंपनियों के खिलाफ तफ्तीश सहित दीपक तलवार, नरेश जैन,राजीव सक्सेना जैसे बड़े स्तर के आरोपियों की गिरफ्तारी और उसकी अवैध संपत्ति का अटैचमेंट का मसला हो या मुंबई में अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) , इकबाल मिर्ची की अवैध प्रॉपर्टी को अटेचमेंट करना इन सभी उपलब्धि का श्रेय संजय कुमार मिश्रा और उनकी टीम को जाता है. जिसको ध्यान में रखते हुए और उनकी इन उपलब्धि की वजह से ही उनको एक साल का अतिरिक्त सेवा विस्तार ईडी में दिए जाने की संभावना है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज