लाइव टीवी

दिल्ली चुनावों में कितना चला शाहीन बाग का दांव, Exit Poll करने वाले विशेषज्ञ का चौंकाने वाला जवाब

News18Hindi
Updated: February 8, 2020, 8:50 PM IST
दिल्ली चुनावों में कितना चला शाहीन बाग का दांव, Exit Poll करने वाले विशेषज्ञ का चौंकाने वाला जवाब
शाहीन बाग में पिछले डेढ़ महीने से ज्यादा समय से सीएए के विरोध में धरना प्रदर्शन हो रहा है. फोटो.पीटीआई

बीजेपी ने इस बार दिल्ली में चुनाव शाहीन बाग (Shaheen Bagh) जैसे मुद्दों को उठाया. शाहीन बाग में सीएए (CAA) के विरोध में पिछले डेढ़ महीने में धरना प्रदर्शन चल रहा है. ऐसे में सभी कह रहे थे कि ये मुद्दा चुनावों में अहम होगा. लेकिन Exit Poll को को करने वाले विशेषज्ञ ने इस बारे में चौंकाने वाला बयान दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 8, 2020, 8:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनावों (Delhi Assembly election) के लिए वोट डाले जा चुके हैं. Exit Poll में एक बार फिर से दिल्ली में अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के नेतृत्व सरकार बनती दिख रही है. सभी Exit Poll में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) की बड़ी जीत की ओर इशारा किया जा रहा है.

हालांकि बीजेपी (BJP) अब भी अपनी जीत का दावा कर रही है. बीजेपी ने इस बार दिल्ली में चुनाव शाहीन बाग (Shaheen Bagh) जैसे मुद्दों को उठाया. शाहीन बाग में सीएए (CAA) के विरोध में पिछले डेढ़ महीने में धरना प्रदर्शन चल रहा है. ऐसे में सभी कह रहे थे कि ये मुद्दा चुनावों में अहम होगा. लेकिन Exit Poll को को करने वाले विशेषज्ञ ने इस बारे में चौंकाने वाला बयान दिया है.

Exit Poll करने वाले Axis My India के प्रदीप गुप्ता का कहना है कि दिल्ली के चुनावों में शाहीन बाग इतना बड़ा मुद्दा नहीं बन पाया, जो बीजेपी को बढ़त दिला सकता. उन्होंने कहा, हमने शाहीन बाग और ओखला में जरूर शाहीन बाग का जिक्र नहीं किया, लेकिन दिल्ली की बाकी की विधानसभा में लोग शाहीन बाग के बारे में जानते ही नहीं थे. वह इसे बड़ा चुनावी मुद्दा मान ही नहीं रहे थे.





उधर सेफोलॉजिस्ट यशवंत देशमुख ने भी CNN News18 से कहा कि दिल्ली में दलित, गृहणियों और अधिकतर मुस्लिम वोट बैंक के केजरीवाल के पक्ष में जाने से एक मजबूत वोटबैंक तैयार हो गया. आम आदमी पार्टी के लिए फ्री बिजली, फ्री पानी और मोहल्ला क्लीनिक जैसी योजनाओं ने काफी सकारात्मक माहौल तैयार किया. एग्जिट पोल के नतीजों से साफ़ है कि लोग केंद्र में मोदी और दिल्ली में केजरीवाल को देखना चाहते हैं.

इस Exit Poll के मुताबिक दिल्ली में आम आदमी पार्टी को 56 फीसदी और बीजेपी को 35 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं. अगर सीटों की बात करें तो दिल्ली में आप को 70 में से 59 से 68 सीटें मिल सकती हैं. वहीं बीजेपी को 2 से 11 सीटें मिलने का अनुमान जताया जा रहा है.

शाहीन बाग का नहीं मिला फायदा
दिल्ली में बीजेपी ने चुनाव की रणनीति शाहीन बाग के इर्द गिर्द ही रखी. खुद बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह ने कई भाषणों में शाहीन बाग का जिक्र किया. उन्होंने कहा था कि आप बटन इतनी जोर से दबाओ कि करंट शाहीन बाग में लगे. लेकिन Exit Poll के इशारों को समझें तो साफ है कि शाहीन बाग का मुद्दा दिल्ली के वोटर्स पर नहीं चला.



तीन अल्पसंख्यक बहुल सीटों पर सबसे ज्यादा वोटिंग
दिल्ली विधानसभा चुनाव में शनिवार को तीन अल्पसंख्यक बहुल सीटों मुस्तफाबाद, मटिया महल और सीलमपुर पर सबसे अधिक मतदान हुआ. चुनाव अधिकारियों ने यह जानकारी दी. अधिकारियों द्वारा दिये गए आंकड़ों के अनुसार उत्तर पूर्वी दिल्ली के मुस्तफाबाद में शाम पांच बजे तक 66.29 प्रतिशत मतदान हो चुका था. पुरानी दिल्ली के मटियामहल इलाके में 65.62 मतदान हुआ. यहां सीएए के खिलाफ प्रदर्शन हुए हैं. उत्तर-पूर्वी दिल्ली की एक और अल्पसंख्यक बहुल सीलमपुर में 64.92 मतदान हुआ है। यहां भी सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. वहीं पूरी दिल्ली में शाम पांच बजे तक 57.87 प्रतिशत मतदान हो चुका था.

यह भी पढ़ें... मनोज तिवारी का दावा- 48 सीटों के साथ सरकार बनाएगी BJP, मेरा ट्वीट संभाल कर रखना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 8, 2020, 8:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर