Exit Polls के नतीजों ने बढ़ाई बीजेपी की चिंता, 2019 में मिल सकती है कड़ी टक्कर

बीजेपी ने साल 2013 में मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान को न केवल आसान मार्जिन से जीता था, बल्कि एक साल बाद लोकसभा चुनावों में, इन तीन राज्यों की 67 सीटों पर भी कब्जा किया था.

News18Hindi
Updated: December 8, 2018, 7:35 AM IST
Exit Polls के नतीजों ने बढ़ाई बीजेपी की चिंता, 2019 में मिल सकती है कड़ी टक्कर
न्यूज 18 क्रिएटिव
News18Hindi
Updated: December 8, 2018, 7:35 AM IST
सात दिसंबर को संपन्न हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के बाद आए एग्जिट पोल्स, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के लिए खुशी लेकर नहीं आए. शुक्रवार को पांच राज्यों के एग्जिट पोल्स, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में जहां बीजेपी को कांग्रेस से कड़ी टक्कर मिलने के आसार जता रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर राजस्थान में विपक्षी दल की सरकार बनने का दावा किया जा रहा है. इसके साथ ही तेलंगाना में दावा किया जा रहा है कि तेलंगाना राष्ट्र समिति, सत्ता में वापसी करेगी. ऐसे मे आगामी लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखें तो बीजेपी के लिए यह अच्छी खबर नहीं है.

एग्जिट पोल्स के नतीजे बता रहे हैं कि बीजेपी को कांग्रेस में 2019 में कांग्रेस से मुश्किल चुनौती का सामना करना पड़ सकता है. बीजेपी ने साल 2013 में मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान को  न केवल आसान मार्जिन से  जीता था, बल्कि एक साल बाद लोकसभा चुनावों में, इन तीन राज्यों की 67 सीटों पर भी कब्जा किया था.

ज्यादातर एग्जिट पोल में यह अनुमान लगाया गया है कि राजस्थान में कांग्रेस सत्ता में लौट सकती है. इंडिया टुडे-एक्सिस के मुताबिक विपक्षी पार्टी (कांग्रेस) राजस्थान विधानसभा की 199 सीटों में 119-141 सीटें जीत सकती है. वहीं बीजेपी को 55-72 सीटें मिल सकती है. टाइम्स नाऊ-सीएनएक्स के अनुमानों के मुताबिक कांग्रेस को 105 सीटें जबकि बीजेपी को 85 सीटें मिल सकती है. हालांकि, रिपब्लिक टीवी-जन की बात, के अनुमानों में दोनों दलों के बीच कांटे की टक्कर रहने का अनुमान लगाया गया है. इसने कांग्रेस को 81-101 और बीजेपी को 83-103 सीटें दी है.

यह भी पढ़ें:  छत्तीसगढ़ में बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने किया जीत का दावा

मध्‍य प्रदेश के लिए ज्‍यादातर एग्जिट पोल में बीजेपी और कांग्रेस के बीच कड़ा मुकाबला बताया जा रहा है. यहां पर सरकार बनाने के लिए 116 सीटों की जरूरत हैं. टाइम्‍स नाऊ-सीएनएक्‍स के मुताबिक बीजेपी को 126, कांग्रेस को 89 व अन्य को 15 सीटें मिल रही हैं. इंडिया टुडे-एक्सिस के अनुसार बीजेपी को 102-120, कांग्रेस को 104-122,  न्‍यूजएक्‍स-नेता के मुताबिक बीजेपी को 106, कांग्रेस को 112 व अन्य को 12 सीटें मिलने का अनुमान है. रिपब्लिक सी-वोटर के मुताबिक एमपी में बीजेपी को 106, कांग्रेस को 110-126 व अन्‍य के खाते में 6-12 सीटें जाने का अनुमान है.

यह भी पढ़ें: अर्थशास्‍त्री का दावाः एमपी, राजस्‍थान और छत्‍तीसगढ़ में BJP को मिलेगा पूर्ण बहुमत

छत्तीसगढ़ की 90 सदस्यीय विधानसभा के लिए रिपब्लिक-सी वोटर के एग्जिट पोल में बीजेपी को 35-43 सीटें और कांग्रेस को 40-50 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है. न्यूज नेशन ने चुनाव नतीजों के अपने अनुमान में बीजेपी को 38-42 सीटें, कांग्रेस को 40-44 सीटें देकर दोनों दलों में कांटे की टक्कर रहने का अनुमान लगाया है.
Loading...

हालांकि, टाइम्स नाऊ-सीएनएक्स ने छत्तीसगढ़ में बीजेपी को साधारण बहुमत देते हुए कहा कि यह 46 सीटों पर जीत हासिल कर सकती है, जबकि विपक्षी कांग्रेस के 35 सीटें जीतने का अनुमान लगाया गया है. एबीपी न्यूज ने कहा कि बीजेपी 52 सीटों पर जबकि कांग्रेस 35 सीटों पर जीत हासिल कर सकती है.

इसके साथ ही तेलंगाना विधानसभा में रिपब्लिक टीवी और टाइम्स नाऊ के अनुमान के मुताबिक टीआरएस को क्रमश: 50- 65 और 66 सीटें मिल सकती है. टीवी 9 तेलुगू और इंडिया टुडे के अनुमानों के मुताबिक यह आंकड़ा क्रमश 75-85 और 75-91 रह सकता है. कुछ एग्जिट पोल में टीआरएस और कांग्रेस -टीडीप गठजोड़ के बीच कांटे की टक्कर रहने का अनुमान लगाया गया है.

पूर्वोत्तर के राज्य मिजोरम की बात करें तो टाइम्स नाऊ -सीएनएक्स के मुताबिक यहां कि कुल 40 सीटों में से सत्तारूढ़ पार्टी कांग्रेस को 16 सीटें मिल सकती हैं. इसने मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) को 18 सीटें मिलने का अनुमान लगाया है.  राज्य में कांग्रेस लगातार दो कार्यकाल में सत्ता में हैं.

यह भी पढ़ें: Exit polls: एमपी और छत्‍तीसगढ़ में कांग्रेस-बीजेपी में करीबी टक्‍कर, राजस्‍थान में कांग्रेस के आसार!

गौरतलब है कि बीजेपी की मुख्य लड़ाई राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में थी. इन तीनों ही राज्यों में बीजेपी अपनी सत्ता बचाने के लिए लड़ रही थी, लेकिन एग्जिट पोल जिस तरह के नतीजे बता रहा है उन्हें बीजेपी के लिए फिलहाल अच्छा नहीं कहा जा सकता है.

गौरतलब है कि साल 2014 में बीजेपी कई बड़े वादों के साथ केंद्र की सत्ता में आई थी, लेकिन अब विपक्ष सरकार पर वादे न पूरे करने के आरोप लगा रहा है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, लगातार नोटबंदी, जीएसटी, नौकरी, अर्थव्यवस्था में आ रही गिरावट के साथ-साथ राफेल सरीखे मुद्दों को लेकर मोदी सरकार पर हमलावर हैं.

आगामी लोकसभा चुनाव के नजरिए से देखें तो मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में सत्ता गंवाना बीजेपी के लिए चिंता बढ़ाने वाली बात होगी. हालांक फिलहाल सबकी नजर 11 दिसंबर पर टिकी हैं, जिस दिन सभी पांच राज्यों के चुनावी परिणाम आएंगे और तस्वीर स्पष्ट होगी.

यह भी पढ़ें: MP, राजस्थान, छत्तीसगढ़ में किसकी बनेगी सरकार और कौन होगा सीएम?
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर