कोरोना से बचाव का नया तरीका, 'डबल मास्किंग' की सलाह दे रहे हैं एक्सपर्ट्स

देश में रोजाना के नये मामलों को बढ़ना जारी है. (सांकेतिक तस्वीर)

देश में रोजाना के नये मामलों को बढ़ना जारी है. (सांकेतिक तस्वीर)

Coronavirus Safety: जानकार कहते हैं कि कई मास्क (Mask) ठीक तरह से फिट नहीं होते हैं. ऐसे में डबल मास्क संक्रमित व्यक्ति के मास्क से निकलकर आपके पास ड्रॉपलेट्स के आने के जोखिम को कम कर देता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 13, 2021, 5:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस का कहर जारी है. ऐसे में लोगों में भी बीमारी को लेकर डर घर कर गया है. एक्सपर्ट्स शुरुआत से ही मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) और साफ-सफाई रखने पर जोर दे रहे थे. अब हालात ऐसे हो गए हैं कि एक्सपर्ट्स दो मास्क पहनने की सलाह देने लगे हैं. खास बात है कि देश में कोरोना की दूसरी लहर आ चुकी है. महाराष्ट्र (Maharashtra) के बाद इस घातक वायरस ने दूसरे राज्यों को एक बार फिर शिकार बनाया है.

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में दिल्ली के मैक्स साकेत में इंटरनल मेडिसिन विभाग के डायरेक्टर डॉक्टर रोमेल टिकू कहते हैं 'व्यक्ति एक सर्जिकल और एक कपड़े का मास्क या दो कपड़े के मास्क पहन सकता है. हालांकि, N95 के मामले में दो मास्क पहनने की जरूरत नहीं है.' वो कहते हैं, 'जब कोई व्यक्ति भीड़ वाली जगहों पर जाता है, जहां सोशल डिस्टेंसिंग मुमकिन नहीं होती, तो उन्हें डबल मास्क पहनने की सलाह दी जाती है.'

Youtube Video


यह भी पढ़ें: Delhi Covid-19 Update: अस्पतालों में इमरजेंसी वार्ड फुल, बेड के लिए भटक रहे मरीज
जानकार कहते हैं कि कई मास्क ठीक तरह से फिट नहीं होते हैं. ऐसे में डबल मास्क संक्रमित व्यक्ति के मास्क से निकलकर आपके पास ड्रॉपलेट्स के आने के जोखिम को कम कर देता है. महाराष्ट्र कोविड टास्क फोर्स के सदस्य डॉक्टर शशांक जोशी कहते हैं 'दो मास्क पहनना और गांठ लगाना वायरस प्रसार को रोकने के कुछ तरीके हैं. क्योंकि यह टाइट फिटिंग को सुनिश्चित करते हैं.' उन्होंने कहा. 'जब दूसरे लोगों को यह लगता है कि इससे सांस लेने में बाधा होगी, तो वहीं, इसके नियमित इस्तेमाल से असुविधा कम हो सकती है.'



टीओआई के मुताबिक, कर्नाटक कोविड टेक्निकल एक्सपर्ट् कमेटी में वायरोलॉजिस्ट डॉक्टर वी रवि बताते हैं, 'ऐसी कोई भी साइंटिफिक स्टडी नहीं है, जो यह साबित कर कि डबल मास्क सुरक्षित होते हैं. N-95 और तीन परत वाले मास्क का सही इस्तेमाल सुरक्षा देता है.'



भाषा के अनुसार, देश में एक दिन में सामने आ रहे संक्रमण के नए मामलों में से 80.80 प्रतिशत मामले 10 राज्यों से रहे हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, कर्नाटक, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान और केरल में प्रतिदिन के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. देश में रोजाना के नए मामलों को बढ़ना जारी है. पिछले 24 घंटों में कुल 1,61,736 नए मामले दर्ज किए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज