लाइव टीवी

विशेषज्ञों ने कहा- अभी और बढ़ सकता है कोरोना वायरस का प्रकोप, बरतें सावधानी

News18Hindi
Updated: February 5, 2020, 11:37 AM IST
विशेषज्ञों ने कहा- अभी और बढ़ सकता है कोरोना वायरस का प्रकोप, बरतें सावधानी
बढ़ सकता कोरोना वायरस

विशेषज्ञों ने कहा, "हम इस बात से चिंतित हैं कि अब चीन के बाहर भी लोगों की मौत होनी शुरू हो गई है. चीन में जितनों की रिपोर्ट है यह मामले उससे कहीं अधिक हो सकते हैं क्योंकि ये आधिकारिक आंकड़े केवल उन लोगों के हैं जिन्होंने जांच कराई है."

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2020, 11:37 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के ब्रिस्बेन में स्थित क्वींसलैंड यूनिवर्सिटी के वायरोलॉजिस्ट इयान मैके (University of Queensland virologist Ian Mackay) के अनुसार यदि इस संक्रमण पर जल्द काबू नहीं पाया गया तो यह एक भयावह रूप ले सकता. उन्होंने कहा कि इससे मरने वालों की संख्या में अभी और इजाफा होगा. पिछली बार 2009 में स्वाइन फ्लू के प्रकोप के दौरान भी काफी लोगों की मौत हुई थी. कोरोना वायरस (Coronavirus) से अभी तक 492 लोगों की मौत हो चुकी है और दुनियाभर में करीब 24534 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है.

वायरस से अभी और लोग होंगे संक्रमित
डॉ. मैके ने कहा कि संक्रमित यात्री जितने स्थानों पर गए होंगे उतने अधिक लोगों के संक्रमित होने की आशंका बढ़ जाती है. संक्रामक बीमारी के विशेषज्ञ फिजियोलॉजिस्ट ट्रेंट यारवुड के अनुसार, 'कोरोना वायरस का प्रकोप और बढ़ने की आशंका है.' डॉ ट्रेंट यारवुड ने कहा, "हम इस बात से चिंतित हैं कि अब चीन के बाहर भी लोगों की मौत होनी शुरू हो गई है." चीन में जितनों की रिपोर्ट है यह मामले उससे कहीं अधिक हो सकते हैं क्योंकि ये आधिकारिक आंकड़े केवल उन लोगों के हैं जिन्होंने जांच कराई है.

दिसंबर से हुई थी शुरुआत

मेडिकल सर्जन द लैंसेट के अनुसार इस संक्रमण की शुरुआत चीन में 1 दिसंबर से ही हो चुकी थी. कोरोना वायरस से 1 महीने में 44 लोग संक्रमित हुए. अभी तक यह वायरस दुनिया के 26 देशों में फैल चुका है. इसे देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी घोषित कर दी. दरअसल किसी वायरस या बीमारी के वैश्विक दुष्प्रभाव के मद्देनजर विश्व स्वास्थ्य संगठन के विशेषज्ञ ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी पर फैसला लेते हैं.

कोरोना वायरस पर तैयार की रिपोर्ट
कोरोना वायरस पर कई यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने अध्ययन किया है और एक रिपोर्ट पेश की. इनका मानना है कि यह अभी और बढ़ेगा. ये सभी वैज्ञानिक अमेरिका के लेबोरेटरी फॉर द मॉडलिंग ऑफ बायोलॉजिकल एंड सोश्यो टेक्नीकल सिस्टम बोस्टन, वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी, यूनिवर्सिटी ऑफ फ्लोरिडा, आईएसआई फाउंडेशन इटली में वायरस पर रिसर्च करते हैं.ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 425 हुई, कुल मामले 20 हजार से ज्यादा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 5, 2020, 10:57 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर