अमेरिका-चीन ट्रेड वॉर से भारत को फायदा, वैश्विक निर्यात में बढ़ी हिस्सेदारी

चीन दक्षिण कोरिया तथा जापान के माल का सबसे बड़ा खरीददार है. वैश्विक निर्यात में चीन की हिस्सेदारी अन्य एशियाई देशों की तुलना में सबसे ज्यादा घटी है. भारत के लिए चीन तीसरा सबसे बड़ा बाजार है.

News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 8:45 PM IST
अमेरिका-चीन ट्रेड वॉर से भारत को फायदा, वैश्विक निर्यात में बढ़ी हिस्सेदारी
ट्रेड वॉर से भारत को हुआ फायदा (सांकेतिक तस्वीर)
News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 8:45 PM IST
अमेरिका और चीन के बीच जारी ट्रेड वॉर से भारत को फायदा होता दिख रहा है. ट्रेड वॉर के दौरान भारत एकमात्र एशियाई देश है, जिसकी वैश्विक निर्यात में हिस्सेदारी बढ़ी है. ब्लूमबर्ग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में वैश्विक निर्यात में भारत की हिस्सेदारी जहां 1.58% थी जो कि 2019 में बढ़कर 1.71% हो गई. वहीं इस दौरान एशिया के 10 सबसे बड़े निर्यातक देशों का निर्यात घटा है.

हाल ही में एक इंटरव्यू में रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा, "भारत ग्लोबल वैल्यू चेन का हिस्सा नहीं है. इसलिए अमेरिका चीन के बीच ट्रेड वॉर का भारत पर उतना असर नहीं पड़ता है, जितना अन्य देशों पर पड़ता है."

चीन दक्षिण कोरिया तथा जापान के माल का सबसे बड़ा खरीददार है. वैश्विक निर्यात में चीन की हिस्सेदारी अन्य एशियाई देशों की तुलना में सबसे ज्यादा घटी है. भारत के लिए चीन तीसरा सबसे बड़ा बाजार है.

फेडरेशन ऑफ एक्सपोर्ट ऑर्गनाइजेशंस के एमडी तथा सीईओ अजय साह के मुताबिक अमेरिका और चीन के ट्रेड वॉर ने दोनों ही देशों में निर्यात बढ़ाने का अवसर प्रदान किया है. भारत द्वारा अमेरिका को निर्यात बीत छह सालों की तुलना में मार्च 2018 में समाप्त हुए वित्त वर्ष में सबसे तेज गति से बढ़ा है. पिछले वित्त वित्त वर्ष में भारत द्वारा चीन को निर्यात में 31% की बढ़ोत्तरी हुई है, जो बीते एक दशक में सर्वाधिक है.

ये भी पढ़ें: महंगाई से बेहाल पाकिस्तानी अब रोटी को तरसे, पीएम इमरान खान ने उठाया ये कदम
First published: August 1, 2019, 8:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...