पंजाब कांग्रेस में कलह: कैप्टन अमरिंदर के नेतृत्व पर आलाकमान ने जताया भरोसा, कैबिनेट में बड़े बदलाव के आसार

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने प्रदेश कांग्रेस के नेताओं द्वारा अपनी ही सरकार के खिलाफ बयानबाजी को लेकर भी चिंता व्यक्त की है.(फाइल फोटो)

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने प्रदेश कांग्रेस के नेताओं द्वारा अपनी ही सरकार के खिलाफ बयानबाजी को लेकर भी चिंता व्यक्त की है.(फाइल फोटो)

Punjab Congress Dispute: सूत्रों को कहना है कि कमेटी के सामने अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने कमेटी के सामने 2022 का विधान सभा चुनाव लड़ने का रोडमैप भी रखा. उन्होंने कमेटी को बताया कि आगामी चुनाव में उनकी क्या रणनीति रहेगी.

  • Share this:

चंडीगढ़. पंजाब कांग्रेस में जारी आंतरिक कलह के बाद राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हाईकमान की तीन सदस्यीय मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge), वरिष्ठ नेता जयप्रकाश अग्रवाल (Jayaprakash Agrawal) और राज्य के प्रभारी महासचिव हरीश रावत (Harish Rawat) की कमेटी ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह सहित 25 विधायकों और मंत्रियों का पक्ष सुन लिया है. इसकी रिपोर्ट अब कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को दो दिन बाद सौंपी जाएगी.

सूत्रों को कहना है कि कमेटी के सामने अमरिंदर सिंह ने कमेटी के सामने 2022 का विधान सभा चुनाव लड़ने का रोडमैप भी रखा. उन्होंने कमेटी को बताया कि आगामी चुनाव में उनकी क्या रणनीति रहेगी. पार्टी सूत्रों के मुताबिक हाईकमान ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व पूरा भरोसा जताया है. साथ ही पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू सहित अन्य नेताओं की नाराजगी पर भी चिंता जाहिर की है.

यह भी पढ़ें: कोरोना के कारण ज्यादा मृत्यु दर पर घिरी पंजाब सरकार क्या 'वैक्सीन स्कैम' से सबक लेगी?

सिद्धू को फिर मिल सकता है मंत्री पद
एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पंजाब कैबिनेट और प्रदेश कांग्रेस कमेटी में बदलाव किया जा सकता है. पार्टी सूत्रों के अनुसार चुनाव से पूर्व नवजोत सिंह सिद्धू को फिर से कैबिनेट में शामिल किया जा सकता है. इसके साथ ही दलित विधायकों को बड़ी जिम्मेदारियां सौंपी जा सकती है. बताया जा रहा है कि सीएम अमरिंदर सिंह ने खड़गे कमेटी को कई नेताओं की गतिविधियों की जानकारी दी है, जिसमें ऐसे मंत्री और विधायकों का भी जिक्र है जिनके तार रेत, शराब और ट्रांसपोर्ट माफिया से जुड़े होने का अंदेशा जताया गया है.





सरकार के खिलाफ बयानबाजी से नाराज हैं कैप्टन

कैप्टन ने प्रदेश कांग्रेस के नेताओं द्वारा अपनी ही सरकार के खिलाफ बयानबाजी को लेकर भी चिंता व्यक्त की है. कैप्टन ने कमेटी को अवगत कराया कि नवजोत सिंह सिद्धू, प्रताप सिंह बाजवा, शमशेर सिंह दूलो, परगट सिंह, चरनजीत सिंह चन्नी, सुखजिंदर सिंह रंधावा और अन्य नेता सरकार की लगातार सार्वजनिक तौर पर अपनी ही सरकार की आलोचना करते आ रहे हैं, जिससे पार्टी कमजोर हो रही है. कैप्टन से मुलाकात के बाद कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने कहा कि कमेटी की आखिरी मुलाकात थी. नेताओं के बयानों पर आधारित रिपोर्ट दो दिन बाद पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष को सौंप दी जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज