अमित शाह की सीट से राज्यसभा के लिए कल नामांकन भरेंगे एस जयशंकर, दूसरी सीट पर ये हैं उम्मीदवार

अमित शाह और स्मृति ईरानी के राज्यसभा सीटों पर दिए इस्तीफ़े के बाद खाली पड़ी सीट पर एस जयशंकर नामांकन भरेंगे.

News18Hindi
Updated: June 24, 2019, 9:24 PM IST
अमित शाह की सीट से राज्यसभा के लिए कल नामांकन भरेंगे एस जयशंकर, दूसरी सीट पर ये हैं उम्मीदवार
अमित शाह और स्मृति ईरानी के राज्यसभा सीटों पर दिए इस्तीफ़े के बाद खाली पड़ी सीट पर एस जयशंकर नामांकन भरेंगे.
News18Hindi
Updated: June 24, 2019, 9:24 PM IST
विदेश मंत्री एस जयशंकर कल राज्यसभा सीट के लिए गांधीनगर से नामांकन भरेंगे. दूसरी सीट के लिए भाजपा ने जुगलजी माथुरजी ठाकोर को उम्मीदवार बनाया है. होटल, कंस्ट्रक्शन और सॉफ्ट ड्रिंक के व्यवसायी जुगल ठाकोर गुजरात क्षत्रिय ठाकोर विकास संघ के अध्यक्ष हैं. अमित शाह और स्मृति ईरानी के राज्यसभा सीटों पर दिए इस्तीफ़े के बाद ये सीटें खाली पड़ी थीं. राज्यसभा के लिए 5 जुलाई को राज्यसभा के लिए वोटिंग होगी.

वहीं सोमवार को विदेश मंत्री एस जयशंकर भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा की मौजूदगी में  औपचारिक रूप से पार्टी में शामिल हो गए. अनुभवी राजनयिक और पूर्व विदेश सचिव जयशंकर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विदेश मंत्री के तौर पर अपनी सरकार में शामिल किया है.



बीजेपी की ओर से जारी की गई प्रेस रिलीज़


पीएम मोदी के भरोसेमंद डिप्लोमेट रहे हैं जयशंकर

उन्हें 30 मई को अन्य लोगों के साथ मंत्री पद की शपथ दिलाई गई थी. उन्हें शपथ लेने के छह महीने के भीतर संसद के किसी भी सदन का सदस्य बनना होगा. बता दें भारत के पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर को मोदी 2.0 सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाया है, हालांकि जयशंकर ने चुनाव नहीं लड़ा था.  एस जयशंकर पीएम मोदी के भरोसेमंद डिप्लोमेट रहे हैं, यही वजह मानी जा रही है की उन्हें टीम मोदी में शामिल किया गया है.

सरकार के लिए बनाईं उपयोगी नीतियां
विदेश सचिव के पद पर रहते हुए उन्होंने जिस तरह से विदेशी मामलों पर सरकार की दिशा और दशा तय करने वाली नीतियां बनाईं, वो सरकार के लिए काफी उपयोगी रहीं. चीन से भारत से संबंधों में कई बार उतार-चढ़ाव देखने को मिले, जिसे जयशंकर ने बहुत खूबसूरती से संभाला.
Loading...

दिल्ली में पैदा हुए एस जयशंकर ने यहीं के एयरफोर्स स्कूल में पढ़ाई की. इसके बाद सेंट स्टीफेंस के प्रतिभाशाली छात्रों में शुमार किये गए. उनके भाई संजय सुब्रह्मण्यम जाने माने इतिहासकार हैं. उनके परिवार में पत्नी के अलावा एक बेटा और एक बेटी है.

ये भी पढ़ें-

आज रात 8 बजे चलेगी लोकसभा की कार्यवाही, कल 2 बजे बोलेंगे PM

FATF बैन मामले में पाक ने की भारत को बीच में घसीटने की कोशिश
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...