अपना शहर चुनें

States

Fuel for India 2020: मुकेश अंबानी ने की पीएम मोदी के डिजिटल इंडिया कैंपेन की तारीफ, कही ये बातें

पीएम मोदी ने 1 जुलाई 2015 को डिजिटल इंडिया कैंपेन की शुरुआत की थी.
पीएम मोदी ने 1 जुलाई 2015 को डिजिटल इंडिया कैंपेन की शुरुआत की थी.

रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के चेयरमैन मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) ने कहा, 'PM मोदी (PM Narendra Modi) ने संकट में भी संभावनाएं निकाली हैं. इस महामारी के दौरान भारत में 20 करोड़ लोगों को डायरेक्ट कैश दिया गया. गरीब परिवारों को बचाने का कदम उठाया गया. ये सब डिजिटल प्लेटफॉर्म (Digital India Campaign) की वजह से ही संभव हो पाया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 15, 2020, 9:49 PM IST
  • Share this:
Facebook Fuel for India 2020: रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के चेयरमैन मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) ने दुनिया के सबसे बड़े सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक (Facebook) के Fuel for India 2020 इवेंट के पहले दिन फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग (Facebook CEO Mark Zuckerberg) के साथ भारत में डिजिटल प्लेटफॉर्म की प्रगति को लेकर बात की. इस दौरान मुकेश अंबानी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के डिजिटल इंडिया कैंपेन (Digital India Campaign) की तारीफ की है. उन्होंने कहा कि कई कंपनियां और संगठन डिजिटल इंक्लूजन (समावेशन) को लेकर त्वरित तरीके से काम कर रहे हैं. डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन में भारत के युवाओं की भूमिका महत्वपूर्ण है. पीएम मोदी के डिजिटल इंडिया कैंपेन को इसका क्रेडिट जाता है.

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन ने कहा, 'PM मोदी ने संकट में भी संभावनाएं निकाली हैं. इस महामारी के दौरान भारत में 20 करोड़ लोगों को डायरेक्ट कैश दिया गया. गरीब परिवारों को बचाने का कदम उठाया गया. रिलायंस फाउंडेशन ने भोजन वितरण की व्यवस्था की. रिलायंस की तरफ से बड़ी तादाद में जरूरतमंदों की मदद की गई. ये सब डिजिटल प्लेटफॉर्म की वजह से ही संभव हो पाया. देश अब 2021 की पहली छमाही में वैक्सीन के लिए तैयार है.'





कोरोना संकट ने खोले रास्ते, 20 साल में दुनिया की टॉप 3 इकोनॉमी में होगा भारत-मुकेश अंबानी
अंबानी ने कहा कि कोरोना महामारी की भयावहता ने हमें चौंका दिया था, लेकिन संकट की घड़ी में घबराना भारत के डीएनए में नहीं है. कोई संकट हमारे लिए ग्रोथ का नया अवसर है. भारत ने पूरी दृढ़ता और संकल्प के साथ कोविड-19 संकट का सामना किया है. हमारा देश अच्छा कर रहा है और आगे भी अच्छा करता रहेगा.

डिजिटल इंडिया कैंपेन युवाओं के लिए एक बड़ा अवसर
मुकेश अंबानी ने कहा कि आमतौर पर इंडस्ट्री सरकार से तेज चलती है, लेकिन डिजिटल इंडिया के साथ सरकार ज्यादा तेज चली. पीएम मोदी का ये कैंपेन युवाओं के लिए एक बड़ा अवसर है.

कब हुई थी डिजिटल इंडिया कैंपेन की शुरुआत?
पीएम मोदी ने 1 जुलाई 2015 को डिजिटल इंडिया कैंपेन की शुरुआत की थी. इस कैंपेन का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण इलाकों को हाई स्पीड इंटरनेट नेटवर्क से जोड़कर उन तक जरूरी सेवाएं पहुंचाना था.

डिजिटल इंडिया के तीन मुख्य घटक हैं-

1- डिजिटल आधारभूत ढांचे का निर्माण करना,
2- इलेक्ट्रॉनिक रूप से सेवाओं को जनता तक पहुंचाना,
3- डिजिटल साक्षरता.

अंबानी परिवार में आई खुशी: मुकेश-नीता अंबानी दादा-दादी बने, आकाश और श्लोका के घर बेटे का हुआ जन्म

क्या हैं चुनौतियां?
डिजिटल इंडिया भारत सरकार की आश्वासनात्मक योजना है. रिलायंस-टाटा समेत कई कंपनियों ने इस योजना में अपनी दिलचस्पी दिखायी है. यह भी माना जा रहा है कि ई-कॉमर्स डिजिटल इंडिया प्रोजेक्ट को सुगम बनाने में मदद करेगा. जबकि, इसे कार्यान्वयित करने में कई चुनौतियां और कानूनी बाधाएं भी आ सकती हैं. कुछ लोगों का यह भी मानना है कि देश में डिजिटल इंडिया सफल तब तक नहीं हो सकता जब तक कि आवश्यक बीसीबी ई-गवर्नेंस को लागू न किया जाए. साथ ही एकमात्र राष्ट्रीय ई-शासन योजना (National e-Governance Plan) का अपूर्ण क्रियान्वयन भी इस योजना को प्रभावित कर सकता है.

वहीं, निजता सुरक्षा, डाटा सुरक्षा, साइबर कानून, टेलीग्राफ, ई-शासन तथा ई-कॉमर्स आदि के क्षेत्र में भारत का कमजोर नियंत्रण है. ऐसे में कई कानूनी विशेषज्ञों का यह भी मानना है कि बिना साइबर सुरक्षा के ई-प्रशासन और डिजिटल इंडिया व्यर्थ है.

डिस्केलमर- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज