Assembly Banner 2021

आयरलैंड से फेसबुक स्टाफ ने दिल्ली फोन कर मुंबई में रुकवाई आत्महत्या की कोशिश!

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

आयरलैंड से दिल्ली और फिर दिल्ली से मुंबई... एक के बाद एक धड़ाधड़ कॉल किए गए और फिर 7 घंटे के अंदर उस शख्स तक पुलिस पहुंच गई और उन्हें आत्महत्या करने से रोक लिया गया. इस मिशन में दिल्ली और मुंबई पुलिस के तीन DCP जुटे थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 10, 2020, 7:35 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आयरलैंड में बैठे फेसबुक (Facebook) के एक स्टाफ ने भारत में 27 साल के एक शख्स को आत्महत्या (suicide ) करने से बचा लिया. आयरलैंड से दिल्ली और फिर दिल्ली से मुंबई... एक के बाद एक धड़ाधड़ कॉल किए गए और फिर 7 घंटे के अंदर उस शख्स तक पुलिस पहुंच गई और उन्हें आत्महत्या करने से रोक लिया गया. इस मिशन में दिल्ली और मुंबई पुलिस के तीन DCP जुटे थे.

ऐसे पता चला आत्महत्या की कोशिश का
शनिवार की शाम एक शख्स ने फेसबुक पर कई लाइव वीडियो डाले. इन्हें देखकर लगा कि वो आत्महत्या की कोशिश करने वाला है. ये सब आयरलैंड में बैठे फेसबुक स्टाफ ने देख लिया. उन्हें वीडियो देखकर इस बात का ऐहसास हो गया कि ये शख्स आत्महत्या कर सकता है. लिहाज़ा उसने तुरंत ये पता किया कि आखिर ये फेसबुक अकाउंट कहां का है. छानबीन के बाद पता चला कि इस अकाउंट को चलाने वाला दिल्ली में रहता है. फेसबुक के इस स्टाफ ने तुरंत दिल्ली में साइबर सेल के डीसीपी अनयेश रॉय को कॉल किया.

घर पर पहुंची पुलिस की टीम
शाम करीब 7 बजकर 51 मिनट पर डीसीपी को फेसबुक अकाउंट से जुड़े आईपी एड्रेस शेयर किया गए. इसके अलावा उन्हें अकाउंट से जुड़ा मोबाइल नंबर भी दिया गया. साइबर सेल ने जैसे ही इस नंबर पर कॉल किया तो पता चला कि इस अकाउंट को चलाने वाला दिल्ली के मंडावली में रहता है. तुरंत ही पूर्वी दिल्ली के डीसीपी जसमीत सिंह से बात की गई. पता चला कि ये अकाउंट किसी महिला के नाम पर रजिस्टर्ड है. दिल्ली पुलिस के अधिकारी उनके घर पहुंचे. महिला ने बताया कि ये अकाउंट उनका ही है, लेकिन इस फेसबुक का इस्तेमाल उनके पति करते हैं. महिला ने कहा कि दो हफ्ते पहले पति से उनका झगड़ा हुआ था. इसके बाद उनके पति मुंबई चले गए. लेकिन उन्हें ये नहीं पता था कि वो मुंबई में कहां रहते हैं.



ये भी पढ़ें:-पायलट के लिए कांग्रेस के दरवाजे बंद! सीएम गहलोत बोले- हमारी जीत हो चुकी

मुंबई में तलाश
इसके बाद रात करीब साढ़े नौ बजे मुंबई साइबर के डीसीपी डॉक्टर रश्मि कर्नादिकर को कॉल किया गया. उन्हें सारी जानकारी दी गई. लेकिन जब उस शख्स को कॉल किया गया तो उसका मोबाइल स्विच ऑफ आ रहा था. इसके बाद पुलिस ने उनके लोकेशन को ट्रेस करने की कोशिश की. उनकी मां से उन्हें कॉल कराया गया और फिर उसके लोकेशन का पता चल गया. रात करीब डेढ़ बजे पुलिस की टीम उसके घर पहुंच गई. उस शक्स ने बताया कि वो लॉकडाउन के दौरान आर्थिक तंगी से परेशान था. लिहाजा उसने आत्महत्या करने का प्लान बनाया था. रात करीब 3 बजे पुलिस ने उन्हें समझाया और फिर वो मान गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज